भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि एमपी गजब तो है ही, एमपी देश का गौरव भी है। एमपी में गति भी है और विकास की ललक भी है। लोगों के हित में कोई योजना बनते ही उस योजना को जमीन पर उतारने दिन रात एक कर दिया जाता है ये जब-जब मैं देखता हूं तो मुझे बहुत आनंद आता है। प्रधानमंत्री ने बुधवार को ने स्वामित्व योजना के अंतर्गत मध् प्रदेश के 1 लाख 71 हजार हितग्राहियों को सिंगल क्लिक के माध्यम से अधिकार अभिलेख का वितरण करते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा मुझे खुशी है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश लैंड डिजिटलाइजेशन के रूप में देश का अग्रणी राज्य बनकर उभरा है। योजनाओं के क्रियान्वयन से लेकर रिकॉर्ड के रखरखाव में भी मध्यप्रदेश उत्कृष्ट कार्य कर रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के गांवों को, गांवों की प्रॉपर्टी को, ज़मीन और घर से जुड़े रिकॉर्ड्स को अनिश्चितता और अविश्वास से निकालना बहुत ज़रूरी है। इसलिए पीएम स्वामित्व योजना, गांव के हमारे भाइयों और बहनों की बहुत बड़ी ताकत बनने जा रही है।

मोदी ने कहा कि गांवों की जो ताकत है, गांव के लोगों की जो जमीन है, जो घर है, उसका उपयोग गांव के लोग अपने विकास के लिए पूरी तरह कर ही नहीं पाते थे। उल्टा, गांव की ज़मीन और गांव के घरों को लेकर विवाद, लड़ाई-झगड़े, अवैध कब्ज़ों में गांव के लोगों की ऊर्जा, समय और पैसा और बर्बाद होता था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वो जमाना देश पीछे छोड़ आया है जब गरीब को एक-एक पैसे, एक-एक चीज के लिए सरकार के पास चक्कर लगाने पड़ते थे। अब गरीब के पास सरकार खुद चलकर रही है और गरीब को सशक्त कर रही है। बीते 6-7 वर्षों के हमारी सरकार के प्रयासों को देखें, योजनाओं को देखें, तो हमने प्रयास किया है कि गरीब को किसी तीसरे व्यक्ति के सामने हाथ नहीं फैलाना पड़े।