नई दिल्ली: भारतीय रेलवे (Indian Railway) के इतिहास में ये पहली बार होगा कि ट्रेन में देरी होने पर यात्रियों को मुआवजा मिलेगा. शनिवार को नई दिल्ली लखनऊ तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) ट्रेन सवा 3 घंटे की देरी से दिल्ली पहुंची. रेलवे की तरफ से आईआरसीटीसी (IRCTC) इस ट्रेन को ऑपरेट करता है, ये देश की पहली निजी ट्रेन भी है. नियम के मुताबिक इस ट्रेन में 1 घंटे की देरी पर 100 रुपए और 2 घंटे या उससे ज्यादा की देरी पर अधिकतम 250 रुपए हर्जाना मिलता है.

शनिवार (19 अक्टूबर) लखनऊ से दिल्ली पहुंचने वाली ट्रेन में 451 यात्री थे सभी को 250 रुपए का मुआवजा मिलेगा.
आईआरसीटीसी ने कहा है सभी यात्रियों को मैसेज भेजा गया है, उसमें भेजे गए लिंक के जरिये यात्री अपना दावा कर सकते है. 
बता दें कि इस ट्रेन में हर यात्री का बीमा रहता है लिहाजा मुआवजा बीमा कम्पनी देती है. 
दरअसल शनिवार सुबह लखनऊ रेलवे स्टेशन पर कृषक एक्सप्रेस के 2 कोच पटरी से उतर गए थे उसके चलते लखनऊ से तेजस 3 घंटे लेट चली थी.