इन्दौर । शहर की पश्चिमी क्षेत्र में सुबह का नजारा कुछ अलग था। कैंसर के खिलाफ जागरुकता फैलाने के लिए विश्व के 55 देशों के स्टूडेंट्स यहां सड़क पर इकट्ठा हुए थे। इनकी अगुआई कर रहे थे कारगिल युद्ध के हीरो मेजर डीपी सिंह, जिन्हें भारत के पहले ब्लेड रनर के रूप में पहचाना जाता है।
एमरल्ड हाइट्स इंटरनेशनल स्कूल द्वारा आयोजित 51वें राउंड स्क्वेयर इंटरनेशनल कांफ्रेंस में हिस्सा लेने आए स्टूडेंट्स ने सोमवार को मैराथन में हिस्सा लिया। एमरल्ड हाइट्स के प्राचार्य सिद्धार्थ सिंह ने बताया कि मैराथन सुबह 7 बजे प्रारंभ हुई। रंगवासा सर्कल पर मेजर सिंह ने इसकी शुरुआत की। यहां से होते हुए यह चोइथराम फाउंडेशन ट्रस्ट पर खत्म हुई। इसके बाद सभी ने पौधारोपण किया। यह इन्दौर के इतिहास का पहला मौका था जब 55 देशों के स्टूडेंट्स किसी सामाजिक उद्देश्य के लिए शहर की सड़कों पर दौड़े हों।