इन्दौर । मां अहिल्या के महेश्वर स्थित किले की ख्याति कई फिल्मों के जरिए दुनिया में पहुंच चुकी है। मगर रविवार को दुनिया के 55 देशों के स्टूडेंट्स ने इस किले की खूबसूरती को निहारा। एमरल्ड हाइट्स इंटरनेशनल स्कूल द्वारा इंदौर में आयोजित 51वीं राउंड स्क्वेयर इंटरनेशनल कांफ्रेस में हिस्सा लेने के लिए विश्व के एक चौथाई देश शहर आए हुए हैं। 
एमरल्ड हाइट्स इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक मुक्तेशसिंह और प्राचार्य सिद्धार्थ सिंह ने बताया कि रविवार को विदेशी स्टूडेंट्स को सुबह के सत्र में महेश्वर की यात्रा कराई गई। इस दौरान राजसी अंदाज में किले पर पहुंचने पर सभी का चंदन का तिलक और माला पहनाकर स्वागत किया गया। विदेश से आने वाले स्टूडेंट्स के लिए स्वागत करने की भारतीय शैली नया अनुभव था। इसके बाद सभी को किले और मां अहिल्या के बारे में जानकारी दी गई कि किस तरह से वे एक कुशल प्रशासक थीं। यहां मां अहिल्या के फोटो के साथ फोटो खिंचाने की स्टूडेंट्स में होड़ रही। किले में ही विभिन्न वस्तुओं की प्रदर्शनी भी लगी थी, जिसका सभी ने लुत्फ उठाया। यहां से स्टूडेंट्स राजबाड़ा और नर्मदा नदी का भव्य घाट देखने पहुंचे। सभी ने यहां फोटो भी खिंचाई।