नई दिल्ली : पिछले दिनों आरबीआई (RBI) की तरफ से बैंकों से 1 अक्टूबर से सभी तरह के कर्ज को रेपो रेट से लिंक करने के लिए कहे जाने के बाद ग्राहकों को एक और तोहफा दिया गया है. रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (MPC) की तीन दिन तक चली बैठक के बाद शुक्रवार को रेपो रेट 25 बेसिस प्वाइंट और घटाने का ऐलान किया है. आरबीआई की तरफ से रेपो रेट में की गई कटौती का लाभ होम लोन और कार लोन लेने वाले ग्राहकों को मिलेगा.

रेपो रेट में अब तक पांच बार कटौती
आरबीआई की तरफ से शुक्रवार को की गई कटौती के बाद रेपो रेट घटकर 5.15 प्रतिशत और रिवर्स रेपो रेट 4.90 प्रतिशत के स्तर पर पहुंच गया है. इस साल अब तक पांच बार रेपो रेट में कटौती की जा चुकी है. कुल मिलाकर इसमें 1.35 प्रतिशत की कटौती की जा चुकी है. रेपो रेट घटने से बैंकों को सस्ते लोन मिलेंगे. इसका फायदा बैंक अपने ग्राहकों को भी पहुंचाएंगे. लोन पर ब्याज दरें घटाई जाएंगी.

ऐसे आसान भाषा में समझिए
रेपो रेट कम करने का असर आपके होम लोन, कार लोन या अन्य किसी भी प्रकार के लोन पर पड़ेगा. यदि आपका पहले से लोन चल रहा है या आप लेने वाले हैं तो आने वाले दिनों में बैंक की तरफ से ब्याज दर घटाए जाने से EMI कम हो जाएगी. साथ ही नए ग्राहकों के लिए यह सस्ते लोन की सौगात होगी. आइये इसे आंकड़ों में समझते हैं.
अगर किसी ग्राहक ने 20 साल के लिए होम लोन लिया है और बैंक उससे 8.90 प्रतिशत के हिसाब से ब्याज ले रहा है तो 20 लाख के लोन पर मंथली EMI में करीब 320 रुपये की बचत होगी. इसी इंटरेस्ट रेट पर 30 लाख के लोन पर मंथली करीब 420 रुपये और 50 लाख के लोन पर 800 रुपये की बचत होगी.