क्या आप जानती हैं योग के फायदे बहुत हैं, इसीलिए आपको योग को अपनी जीवन शैली में शामिल करना चाहिए। आमतौर पर देखा गया है कि महिलाएं अपनी सुंदरता के प्रति बहुत जागरूक होती हैं लेकिन हर समय अपने आप पर ध्यान देना संभव नहीं होता। ऐसे में महिलाओं के लिए जरूरी हो जाता है कि वे योगा करें। यदि वे शारीरिक रूप से फिट रहेंगी तो उनकी सुंदरता भी खुद-ब-खुद निखर जाएगी। महिलाओं को छरहरी काया और फिटनेस की फ्रिक रहती हैं लेकिन उनके पास सरल और आसान उपाय नहीं होता लेकिन योग के जरिए वे अपनी इस समस्या को सुलझा सकती हैं।
इतना ही नहीं योगा के जरिए आप ना सिर्फ स्वस्थ रह सकती हैं बल्कि आप कई बीमारियों से बच सकती हैं लेकिन क्या आप जानती हैं योगा परिस्थितियों के हिसाब से किया जाता हैं। यानी आप बीमार हैं या आपको कोई गंभीर रोग है तो आपको कुछ योगासन करने के लिए मनाही होगी। इतना ही नहीं गर्भावस्था जैसी स्थितियों में भी आपको योगासन के दौरान बहुत सावधानी बरतनी होगी। ऐसे में ये सवाल उठता है कि महिलाओं के लिए योगासन कौन-कौन से हैं या फिर महिलाओं को किन योगासनों को नहीं करना चाहिए। महिलाओं को कब कौन से आसन करने चाहिए और कौन से नहीं। यहां ये भी सवाल उठता हैं कि महिलाओं के लिए योगा के लाभ कितने हैं और महिलाओं को योगा कैसे करना चाहिए। 
महिलाओं के लिए योगा
श्वास क्रिया- महिलाओं को अपनी आवाज को सुरीला बनाने और सांस संबंधी समस्याओं से बचने के लिए श्वास क्रियाएं करनी चाहिए।
वज्रासन- जो महिलाएं खाने के बाद टहल नहीं पाती और मोटापे व पेट संबंधी समस्याओं से भी बचना चाहती हैं तो इन्हें वज्रासन करना चाहिए।
श्वा‍सन- श्वासन महिलाओं के लिए बहुत ही उपयुक्त आसन हैं क्योंकि शरीर को रिलैक्स करने और तनाव मुक्त होने और थकान उतारने के लिए श्वासन करना चाहिए।
सूर्य नमस्कार- महिलाएं यदि अपने लिए समय नहीं निकाल पाती और योगासन को भी कम से कम समय देना चाहती हैं तो उन्हें सूर्य नमस्कार की 12 विधियों को करना चाहिए। इससे ना सिर्फ पूरे शरीर का व्यायाम हो जाता है बल्कि आप तरोताजा भी महसूस करेंगी।
योगा के लाभ
महिलाओं के लिए योगा के बहुत फायदे हैं। महिलाओं को घर और बाहर के साथ-साथ और भी कई तरह की जिम्मेदारियां निभानी होती हैं जिसके कारण वे अपने आपको बिल्कुल समय नहीं दे सकती लेकिन जो महिलाएं योगा करती हैं वे योग के जरिए भी स्वस्थ रह सकती हैं।
रोजाना योग से बढ़ती उम्र में होने वाली बीमारियों से आसानी से बच सकती हैं।
गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ रहने के लिए महिलाओं को योगा की बहुत जरूरत होती हैं क्योंकि इससे बच्चे का विकास भी ठीक तरह से होता है और प्रसव के दौरान और बाद में भी आने वाली समस्‍याओं से बचा जा सकता हैं।