भोपाल । मध्यप्रदेश की जीवनरेखा कही जाने वाली नदी मां नर्मदा को जल्द ही विश्वव्यापी पहचान मिलने वाली है। प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने इसके लिए पहल की है। सरकार की कोशिश मां नर्मदा को वल्र्ड हेरिटेज साइट में शामिल कराने की है। कमलनाथ सरकार ने इसका प्रस्ताव तैयार कर लिया है और चयन के लिए यूनेस्को वल्र्ड हेरिटेज सेंटर को भेजा जा रहा है। अब तक जो प्रक्रिया हुई है, उससे अनुमान है कि नवंबर में यूनेस्को की टीम को मध्यप्रदेश सरकार नवंबर में नर्मदा नदी के अवलोकन के लिए आमंत्रित कर सकती है।
सरकार यदि इस प्रयास में सफल हो गई तो नर्मदा की स्वच्छता से लेकर उसके आसपास के विकास की सारी बागडोर यूनेस्को की टीम के हाथों में होगी। इसकी डीपीआर तैयार करने का काम भी यूनेस्को के विशेषज्ञों द्वारा किया जाएगा। वल्र्ड हेरिटेज की सूची में अब तक मप्र से खजुराहो, सांची के स्तूप और भीमबैठिका को शामिल किया जा चुका है। फिलहाल देश में अब तक किसी भी नदी को वल्र्ड हेरिटेज साइट का दर्जा प्राप्त नहीं है, लेकिन दक्षिण अमेरिका स्थित अमेजन बेसिन के बड़े भू-भाग को इसमें शामिल किया गया है, जिसमें कुछ नदियां और अन्य जलस्रोत शामिल हैं, इनमें विलक्षण जीवजंतु पाए जाते हैं।