नई दिल्ली । भारत की शीर्ष महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु ने कहा है कि भारत को उच्च स्तर पर अच्छे प्रशिक्षकों खासकर विदेशी कोचों की जरूरत है जो खिलाडिय़ों के खेल में जरूरी सुधार कर सकें और नये चैम्पियन सामने ला सकें। इससे पहले भारत की राष्ट्रीय टीम के कोच पुलेला गोपीचंद ने भी कहा था कि देश को बड़ी तादाद में अच्छे कोच की जरुरत है। सिंधु ने कोच गोपीचंद की इस बात से सहमति जतायी है। सिंधु ने कहा कि यह पूर्व खिलाडिय़ों के ऊपर है कि वे कोच बनना चाहते हैं या नहीं। यह उनके ऊपर है कि वो क्या करना चाहते हैं। हम इस बारे में कुछ नहीं कह सकते। हां, उच्च स्तर के प्रशिक्षकों की जरूरत है, जो खेल के बारे में काफी अच्छे से जानते हैं और जो चैम्पियन बना सकते हैं।
अब हमें विदेशों से अन्य प्रशिक्षकों की जरूरत है ताकि वो हमारे खेल में जरूरी बदलाव कर सकें। जिससे हमें मदद मिले। सिंधु ने साथ ही कहा है कि विश्व चैम्पियन बनने के बाद बाद उनके आत्मविश्वास में इजाफा हुआ है और वह पहले से ज्यादा मजबूत हो गई हैं। सिंधु ने पिछले महीने स्विट्जरलैंड के बासेल में खेली गई विश्व चैम्पियनशिप में जापान की नाओमी ओकुहारा को हराकर यह खिताब जीता है। विश्व चैम्पियन ने कहा कि निश्चित तौर पर थोड़ा दबाव तो रहता है लेकिन इस विश्व चैम्पियनशिप ने मुझे काफी आत्मविश्वास दिया है। इसी आत्मविश्वास के साथ मैं आगे जाऊंगी। ओलम्पिक में अभी समय है और इस दौरान मुझे काफी टूर्नामेंट भी खेलने हैं।