नई दिल्‍ली : कश्‍मीर (Kashmir) से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के मुद्दे पर अंतरराष्‍ट्रीय जगत से तवज्‍जो न मिलने से छटपटा रहे पाकिस्‍तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान नित नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं, लेकिन कोई उनकी बात नहीं सुन रहा. इसी से परेशान इमरान अब पीओके (PoK) के मुजफ्फराबाद में एक बड़ी रैली करेंगे. इमरान खान ने ट्वीट कर यह बात कही.
पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्विटर पर कहा कि वह आगामी 13 सितंबर को पीओके के मुज़फ़्फ़राबाद में एक बड़ी रैली करेंगे, जिसका मकसद कश्‍मीर में भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा लगातार की जा रही घेराबंदी को लेकर संदेश देना है. साथ ही कश्मीरियों को यह भी दिखाने के लिए कि पाकिस्तान उनके साथ पूरी तरह खड़ा है.
दरअसल, पाकिस्तान पर कश्मीर का बुखार बदस्तूर छाया हुआ है. हाल ही में प्रधानमंत्री इमरान खान और सैन्य प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने कहा कि पाकिस्तान, कश्मीर को कभी अकेला नहीं छोड़ेगा, कश्मीर के बिना पाकिस्तान अधूरा है और कश्मीर, पाकिस्तान के गले की नस के समान है. 
प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि आज हम एक बार फिर 1965 जैसी स्थिति का सामना कर रहे हैं. उन्होंने कहा, "शत्रु एक बार फिर नियंत्रण रेखा पर आक्रामकता दिखा रहा है. उसने संयुक्त राष्ट्र प्रस्तावों के खिलाफ जाकर कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त कर दिया है और कश्मीर में मासूम लोगों पर जुल्म का पहाड़ तोड़ दिया है."