पंजाब में 'राम-सिया के लव कुश' धारावाहिक के प्रसारण के विरोधस्वरूप प्रदेश बंद करने के बाद अब बड़ी कार्रवाई की गई है। फिरोजपुर में थाना सिटी पुलिस ने रविवार को टीवी चैनल कलर्स के एमडी, सीरियल के लेखक और सीरियल के डायरेक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।
पुलिस को दी गई शिकायत में श्याम लाल सुंदर निवासी भारत नगर ने कहा कि टीवी चैनल पर इन दिनों यह सीरियल प्रसारित हो रहा है। इसमें सीरियल के लेखक व डायरेक्टर सिद्धार्थ तिवारी भगवान वाल्मीकि के चरित्र संबंधी गलत बातें पेश कर रहे हैं। ऐसा करके इतिहास से छेड़छाड़ की जा रही है। इससे वाल्मीकि समुदाय की आस्था को ठेस पहुंची है।

शनिवार को बंद रहा पंजाब, शताब्दी रोकी, गोली लगने से युवक घायल
एक निजी टीवी चैनल पर प्रसारित किए जा रहे सीरियल ‘राम-सिया के लव कुश’ में भगवान वाल्मीकि महाराज की जीवनी को तोड़ मरोड़ कर पेश करने के मामले में वाल्मीकि समुदाय का पंजाब बंद रहा। बंद का सबसे ज्यादा असर जालंधर, अमृतसर व तरनतारन में दिखा। अमृतसर में आंदोलनकारियों ने शताब्दी को रोका। फिरोजपुर रेल मंडल में आंदोलन के चलते 10 ट्रेनों का आवागमन प्रभावित रहा। नकोदर में दुकान बंद करवाने के दौरान एक युवक को गोली मार दी गई।
मुख्यमंत्री कै. अमरिंदर सिंह ने शनिवार रात को सभी जिला उपायुक्तों को सीरियल के प्रसारण पर तुरंत रोक लगाने का आदेश दिया। उन्होंने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर सीरियल के प्रसारण पर रोक लगाने की मांग की। भगवान वाल्मीकि टाइगर फोर्स ऑल इंडिया एक्शन कमेटी व श्री गुरु रविदास टाइगर फोर्स ने पंजाब बंद का आह्वान किया था। अमृतसर में बंद को सफल बनाने के लिए वाल्मीकि संगठनों के सदस्य हाथों में तेजधार हथियार लिए पूरे शहर की दुकानों को बंद करवाते नजर आए। भंडारी पुल पर वाल्मीकि संगठनों ने धरना दिया।

शहर को जोड़ने वाले इस पुल पर कई घंटे ट्रैफिक जाम रहा। बंद के दौरान गुरु नगरी की सभी प्रमुख दुकानें बंद रहीं। उन्होंने मेट्रो बस सेवा को भी रोका। आंदोलनकारी सुबह पांच बजे ही वल्ला फाटक के रेल ट्रैक पर बैठ गए। अमृतसर रेलवे स्टेशन से रवाना हुई शताब्दी एक्सप्रेस के ड्राइवर ने गाड़ी को वल्ला फटक के पीछे ही रोक लिया। गुस्साए लोगों ने लगभग 40 मिनट तक शताब्दी को रोके रखा। रेलवे पुलिस व पंजाब पुलिस के अधिकारियों ने रेल ट्रैक पर बैठे वाल्मीकि संगठनों के लोगों को समझा कर हटाया। जालंधर में बाजार लगभग पूरी तरह से बंद रहे।

प्रदर्शनकारियों ने सड़कों पर प्रदर्शन के दौरान टायरों को आग लगा दी। नकोदर में बंद के दौरान बाबा मुराद शाह रोड पर एक दुकान पर काम कर रहे मुलाजिमों को प्रदर्शनकारियों ने रोका तो दुकान मालिक ने गोली चला दी। जिसमें वहां काम करने वाला गुरप्रीत गोपी घायल हो गया। घटना की सूचना मिलते ही अस्पताल में डिप्टी कमिश्नर वरिंदर कुमार शर्मा और पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर भी पहुंच गए। फिरोजपुर में प्रदर्शनकारियों ने अमृतसर-मानांवाला के बीच गेट नंबर-एस 28 पर धरना दिया। इससे  रेल डिवीजन फिरोजपुर की दस ट्रेनें लेट हो गईं।