नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस में सादगी की मिसाल पेश की है. अपने रूस दौरे पर फोटो सेशन के दौरान उनके बैठने के लिए विशेष रूप से लाए गए सोफे पर बैठने से इनकार कर दिया और अन्य लोगों के साथ बैठने के लिए साधारण कुर्सी मंगाई. वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया, जिसमें मंगलवार को पीएम मोदी द्वारा सोफे के बजाय कुर्सी पर बैठने के लिए कहने के बाद अधिकारियों को सोफे के स्थान पर कुर्सी रखते हुए देखा जा सकता है.

गोयल ने ट्वीट किया, 'आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सादगी दिखी जब वे अपने लिए किए गए विशेष प्रबंध को खारिज कर अन्य लोगों के बीच साधारण कुर्सी पर बैठ गए.'
मोदी व्लादिवोस्तोक में ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम (ईईएफ) में शामिल होने दो दिवसीय रूस यात्रा पर गए थे.
इससे पहले नवीकरणीय ऊर्जा पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि क्या भारत सौर ऊर्जा बैटरी विनिर्माण के क्षेत्र में हब बन सकता है, जो कि स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में एक बड़ी भूमिका निभा सकता है. उन्होंने यह बात मोबाइल फोन का उदाहरण देते हुए कही कि जैसे-जैसे मोबाइल फोन की लोकप्रियता बढ़ती गई, बैटरी का आकार भी छोटा होता गया.
गुरुवार को यहां इस्टर्न इकोनोमिक फोरम (ईईएफ) को संबोधित करने के बाद मीडिया से बातचीत में नरेंद्र मोदी ने कहा कि नवीकरणीय ऊर्जा पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि क्या भारत सौर ऊर्जा बैटरी विनिर्माण के क्षेत्र में हब बन सकता है, जो कि स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में एक बड़ी भूमिका निभा सकता है. उन्होंने यह बात मोबाइल फोन का उदाहरण देते हुए कही कि जैसे-जैसे मोबाइल फोन की लोकप्रियता बढ़ती गई, बैटरी का आकार भी छोटा होता गया.