इन्दौर । स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा है कि चिकित्सकीय सेवा मानव सेवा का सबसे बड़ा माध्यम है। चिकित्सा जगत से जुड़े सभी व्यक्तियों को चाहिये कि वे पूर्ण समर्पण तथा नि:स्वार्थ भाव से पीड़ित मानवता की सेवा करें। मानव सेवा सबसे बड़ी सेवा है।श्री सिलावट यहां अरविन्दो मेडिकल कॉलेज में नवागत विद्यार्थियों के लिये आयोजित व्हाइट कोट सेरेमनी को सम्बोधित कर रहे थे। श्री सिलावट ने विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। श्री सिलावट ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार तथा उसे सुदृढ़ बनाने का कार्य तेजी से जारी है। यह कार्य चुनौतीपूर्ण है। उन्होंने अनुरोध किया कि चिकित्सा जगत से जुड़े सभी लोग इस कार्य में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ बनाने के लिये चिकित्सक तथा पैरामेडिकल स्टाफ के रिक्त पदों को भरने का कार्य हाथ में लिया गया है। शीघ्र ही साढ़े पांच सौ से अधिक चिकित्सकों की नियुक्ति की जा रही है। इन्हें प्रदेश के दुरस्थ अंचलों में पदस्थ कर जरूरतमंद व्यक्तियों को इलाज की सुविधा मुहैया करायी जायेगी। उन्होंने कहा कि हर नागरिक को स्वास्थ्य सेवा उपलब्‍ध कराना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। कार्यक्रम में अरविन्दो मेडिकल कालेज के डॉ. विनोद भण्डारी सहित बड़ी संख्या में चिकित्सक, प्रोफेसर तथा विद्यार्थी मौजूद थे।