ग्वालियर: मध्य प्रदेश के पीसीसी चीफ को लेकर मची उठापटक के बीच कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को ग्वालियर पहुंचते ही बड़ा बयान दिया. प्रदेश में जारी रेत उत्खनन पर उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान रेत उत्खनन प्रमुख मुद्दा था. इस पर रोक न लग पाना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने दिग्विजय सिंह की नाराजगी के मामले में अनभिज्ञता जाहिर की. 

सिंधिया की अगवानी करने बड़ी संख्या में ग्वालियर चंबल संभाग के कांग्रेस के नेता पहुंचे थे. हजारों की संख्या में पहुंचे नेताओं ने सिंधिया को अपने मन की बात भी कही. सिंधिया ने सबका अभिवादन स्वीकार किया. सिंधिया ने प्रदेश अध्यक्ष के सवाल पर कहा कि पार्टी हाईकमान का जो भी फैसला होगा, वह उन्हें मंजूर होगा. 

उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं मालूम कि दिग्विजय सिंह उनसे नाराज हैं, यदि वह नाराज हैं तो आप उनसे ही सवाल पूछिए. मध्य प्रदेश में खनन को लेकर उन्होंने कहा कि रेत खनन पर लगाम लगाना कांग्रेस सरकार की पहली पहली प्राथमिकता है, चुनाव के समय भी रेत उत्खनन पार्टी का प्रमुख मुद्दा था इस पर लगाम नहीं लग पाई है यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है. आज ज्योतिरादित्य सिंधिया दो प्रमुख कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे. इसके अलावा कल भी वह ग्वालियर में ही रहेंगे और कल भी वह विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे. 
सिंधिया को एमपी कांग्रेस अध्यक्ष बनाने को लेकर पोस्टर वार
उधर, वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष और राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक खुलकर पोस्टवार करते दिखाई दे रहे हैं. ग्वालियर की सड़कों पर कांग्रेस नेता द्वारा पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से अपील की गई है कि वह बिना किसी दवाब में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश कांग्रेस कमेटी की कमान सौंपे. पोस्टर में लिखा है, 'अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी जी किसी के दबाव में ना आएं मध्य प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया जी को बनाएं.'