कई लोग नींद न आने पर नींद की गोलियों का सेवन करते हैं जो बेहद नुकसानदेह होता है। शुरुआत में तो कुछ समय के लिए यह गोलियां राहत देती हैं लेकिन इनकी आदत किसी भी व्यक्ति के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। ऐसे में आप भी अगर नींद की गोलियों का सहारा लेते हैं तो सावधान हो जाएं। एक अध्यन रिपोर्ट में बताया गया है कि जो लोग रोजाना नींद की गोलियां लेते हैं, उनमें हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने का खतरा अधिक रहता है। नियमित तौर पर नींद की गोलियां लेने ने बुजुर्ग लोगों में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। 
इस स्टडी के लिए शोधकर्ताओं की टीम ने तनाव और उच्च रक्तचाप से ग्रस्त करीब 752 बुजुर्ग लोगों को शामिल किया। इस अध्ययन के दौरान पाया गया कि करीब 156 लोगों ने एंटीहाइपरटेंसिव दवाइयों की संख्या में वृद्धि की। इससे नींद की अवधि या क्वालिटी और एंटीहाइपरटेन्सिव ड्रग के उपयोग में परिवर्तन के बीच कोई संबंध नहीं पाया गया।
शोधकर्ताओं की टीम ने कहा कि नींद की गोलियों का सेवन भविष्य में उच्च रक्तचाप के इलाज की आवश्यकता और अनहेल्दी लाइफस्टाइल की ओर संकेत करता है, जो उच्च रक्तचाप के लिए जिम्मेदार हो सकता है।
इसके अलावा इससे अल्जाइमर बीमारी होने का खतरा बढ़ता है।