नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेटर टेस्ट क्रिकेट में अभी जर्सी नंबर के साथ मैदान पर उतरे भी नहीं हैं और इसके आलोचक सामने आने लगे हैं. भारतीय टीम गुरुवार को पहली बार जर्सी नंबर के साथ टेस्ट मैच खेलेगी. भारत और वेस्टइंडीज के बीच यह टेस्ट मैच गुरुवार को शाम सात बजे शुरू होने जा रहा है. मैच से कुछ देर पहले भारत के ही अजय जडेजा (Ajay Jadeja) ने टेस्ट मैचों की जर्सी में नंबर के प्रयोग की आलोचना की. हालांकि, उनके साथ बैठे विवियन रिचर्ड्स (Vivian Richards) ने कहा कि ऐसे प्रयोग समय के साथ किए जा सकते हैं. इसमें कोई बुराई नहीं है. 

भारत और वेस्टइंडीज टेस्ट मैच से पहले सोनी सिक्स चैनल पर अजय जडेजा, विवियन रिचर्ड्स और ग्रीम स्वान (Graeme Swann) ने मैच की संभावनाओं, आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप समेत तमाम मुद्दों पर बात की. इस दौरान अजय जडेजा ने कहा, ‘मैं आईसीसी के जर्सी नंबर के प्रयोग से सहमत नहीं हूं. टेस्ट क्रिकेट कोई फ्रेंचाइजी क्रिकेट नहीं है. जो क्रिकेटर टेस्ट स्तर पर पहुंच चुका है, उसके लिए यह कहना सही नहीं है कि उसे प्रशंसक नहीं पहचानते या उसे लोग जर्सी नंबर से पहचानेंगे. यह बात हजम नहीं होती.’ 
विवियन रिचर्ड्स ने इस बारे में कहा कि यह प्रयोग समय के साथ चलने का मामला है. यह प्रमोशन का भी मामला है. आज के दौर पर खिलाड़ियों के जरिये खेल का प्रमोशन किया जाता है. जर्सी नंबर से इसमें मदद मिलेगी. इंग्लैंड के पूर्व ऑफ स्पिनर ग्रीम स्वान ने भी जर्सी नंबर के प्रयोग को सकारात्मक कदम करार दिया. 

अजय जडेजा ने आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फॉर्मेट की भी आलोचना की. उन्होंने कहा कि इस चैंपियनशिप में हर टीम अलग-अलग नंबर में मैच खेलेंगी. इसी तरह यह भी जरूरी नहीं रखा गया है कि हर टीम आपस में खेलें. कोई टीम पांच मैचों की सीरीज खेल रही है तो कोई दो मैचों की सीरीज. इसके बाद यह उम्मीद की जा रही है कि टेस्ट क्रिकेट को चैंपियन मिलेगा. यह सही नहीं है. जब फॉर्मेट ही सही नहीं है तो चैंपियन भी वास्तविक नहीं होगा.