दक्षिण कोरिया के सियोल में भारत विरोधी नारे लगाने वालों को मुंहतोड़ जवाब देने वालों में भाजपा सांसद शाजिया इल्मी का साथ जबलपुर के एक युवक ने दिया. करीब 300 पाकिस्तान समर्थक लोगों पर तीन देशभक्त भारतीय भारी पड़ गए.खास बात यह है कि पाकिस्तान समर्थक और भारत विरोधी लोगों से भिड़ने वाले ये युवा हैं मनीष त्रिपाठी.

मनीष त्रिपाठी नाम के ये शख्स मूल रूप से जबलपुर के रहने वाले हैं. लेकिन पिछले कई साल से वो सिंगापुर में रह रहे हैं. भारत के 3 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल में वो भी शामिल थे. सियोल में भारतीय राजदूत से मिलकर लौटते वक्त प्रतिनिधिमंडल जब रास्ते से गुजर रहा था तभी पाकिस्तान समर्थकों ने भारत विरोधी नारे लगाने शुरू कर दिए थे. वे पीएम मोदी के लिए आपत्तिजनक बातें कह रहे थे. पाकिस्तान समर्थकों की इस हरकत पर सबसे पहले जबलपुर के रहने वाले एनआरआई मनीष त्रिपाठी ने ही ऐतराज जताया और भाजपा सांसद शाज़िया इल्मी के साथ मिलकर प्रदर्शनकारियों से भिड़ने चले गए.

एनआरआई मनीष त्रिपाठी के मुताबिक भारत और देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक आरोपों का हमेशा विरोध किया जाना चाहिए. उन्होंने विदेशों में रह रहे भारतीयों से आह्वान किया कि अगर उनके सामने भी कभी भारत विरोधी नारे लगाए जाएं और प्रदर्शन हो तो इसका कड़ाई से विरोध किया जाए.