बिलासपुर । पोस्ट ऑफिस में अलग-अलग योजनाओं में दर्जन लोगों का एक करोड़ से अधिक राशि जमा करवाने वाला आरोपी एजेंट दम्पत्ति ने फर्जीवाड़ा करके हितग्राहियों की रकम लेकर फरार हो गया है। बताया जाता है कि आरोपी एजेंट ने मुख्य पोस्ट आफिस के सामने कार्यालय खोलकर लम्बे समय से बीमा एजेंट का काम कर रहा था। लोगों ने अपनी मेहनत की कमाई पोस्ट आफिस में एफडी, आरडी समेत अनेक योजनाओं पर एजेंट के माध्यम से लाखों रूपए जमा किए थे। बुजुर्ग पीडि़त लोग जब पोस्ट आफिस कार्यालय में अपनी रकम का पता किये तब पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी हुई है। आरोपी एजेंट अपना कार्यालय बंद करके तीन दिन पहले ही फरार हो चुका है। ठगी के शिकार एक दर्जन से अधिक लोग सिविल लाइन थाना पहुंचे और सारा मामला थाना प्रभारी को बताया। पुलिस सभी से आवेदन लेकर मामले की जांच में लग गई है। सिविल लाइन थाने में पहुंचे ठगी के शिकार लोगों ने बतया कि विकास नगर सत्ताइस खोली निवासी संजय नारंग एंव श्रीमती अनिता नारंग पोस्ट आफिस अभिकर्ता द्वारा राजेद्र नगर मुख्य पोस्ट आफिस के पास अक्षय कंसलटेसी के नाम से कार्यालय खोलकर बिलासपुर के विभिन्न पोस्ट आफिस में एमआईएस, केवीपी, एमसीएस, आरडी आदि विभिन्न योजनाओं में राशि जमा करने का काम पिछले 35 वर्षो से करते आ रहा है। पिछले कुछ महीनों से अनेक लोगों के द्वारा जमा की गई रकम को फर्जी तरीके से निकालकर एंव कई लोगों द्वारा जमा हेतु दिये गये राशि को जमा न करके फर्जीवाड़ा किया गया है। आरोपी पर वैधानिक कार्रवाई की मांग के लिए सिविल लाइन थाने पहुंचे है। पीडि़तों के विरोध करने के बाद आरोपी ने अपना मोबाइल नबंर बंद कर दिया है। वही अपने परिवार सहित वह पिछले तीन दिनों से कई भाग गया है। पीडि़तो का कहना है कि लगभग सैकड़ो लोगों की जमा राशि को लेकर सजंय नारंग रफूचक्कर हो गया है। 
सिविल लाइन थाने में पहुंचे लगभग एक दर्जन लोगों के नाम इस प्रकार है। जिनमें ए.के वाजपेयी चार लाख 80 हजार, रघुनदंन लाल वर्मा तीन लाख दो हजार, एम.एल.सोनी 20 लाख,अंकित जैन तीन लाख 80 हजार,श्रीमती पुष्पा शुक्ला 8 लाख चालीस हजार,कृष्ण लाल घई एक लाख पचास हजार, हंसराम वैसवाड़े एक लाख,राज पिल्ले 9 लाख 90 हजार,नासिर खान दो लाख पचास हजार,आई के कौशिक पांच लाख पचास हजार,श्रीमती अम्बे सिंह 70 हजार रूपए इन लोगों के जमा राशि को एजेंट के द्वारा फर्जीवाड़ा किया गया है।