कान में लगातार खुजली ईयर इन्फेक्शन (संक्रमण) भी हो सकता है। कान के अंदर के हिस्से तक पहुंचना अंसभव है और कई बार लोग खतरनाक चीजों का इस्तेमाल करने लगते हैं जोकि बिल्कुल गलत है।
कान में खुजली की वजह क्या है? जब किसी शख्स में अल्ट्रा सेंसिटिव न्यूरोलॉजिकल फाइबर्स होते हैं तो कानों में खुजली होती है। ये वे छोटे फाइबर होते हैं जो कानों की बाहरी परत बनाते हैं और सेसेंटिविटी बढ़ने से खुजली की समस्या हो सकती है। इसके अलावा ड्राई स्किन की वजह से भी खुजली हो सकती है। मानव के शरीर में सबसे ज्यादा संवेदनशील कान होता है और इसलिए आपको इस समस्या से छुटकारा दिलाने में ये घरेलू उपाय बहुत काम आएंगे।
घरेलू उपाय -
एलोवेरा-
अधिकतर लोगों के घरों में एलोवेरा का पौधा होता है। आप अपने सिर को एक तरफ झुकाकर कान में एलोवेरा जेल की 3-4 बूंदे डाल सकते हैं। कुछ सेकेंड तक सिर झुकाए रखें ताकि एलोवेरा जेल बाहर ना निकल जाए। एलोवेरा से कान की भीतरी परत की ड्राइनेस दूर होती है और पीएच का स्तर भी सामान्य हो जाता है। इसका एंटी इन्फ्लैमेटेरी गुण कानों की खुजली और सूखेपन की समस्या से निजात दिलाने में मदद करता है।
तेल-
कई सारे तेल कानों की खुजली की समस्या से निजात दिलाने में इस्तेमाल किए जा सकते हैं। नारियल का तेल, ओलिव ऑयल कान में डाल सकते हैं।
लहसुन-
लहसुन के बहुत सारे गुण आपने पहले ही सुने होंगे। लहसुन में एंटीबायोटिक और दर्द में राहत दिलाने वाले गुण मौजूद होते हैं। गर्म जैतून या तिल के तेल में एक कली लहसुन क्रश कर डाल दें। लहसुन को निकाल लें और तेल को कान के बाहरी हिस्से में लगाएं आपको आराम मिलेगा।