लंदन । ब्रिटेन ने इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी रहे जिहादी जैक की ब्रिटिश नागरिकता खत्म कर दी है। उसके पास अपने पिता की वजह से कनाडा की नागरिकता भी है। 24 वर्षीय जैक लेट्स का ताल्लुक ऑक्सफर्ड शहर से है और वह धर्मांतरित होकर मुसलमान बन गया था। वह 2014 में किशोरावस्था में सीरिया के रक्का चला गया था और आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट में शामिल हो गया था। हालांकि बाद में वह आतंकी समूह को छोड़कर भाग गया था। वह अब उत्तरी सीरिया में एक कुर्द जेल में बंद है। उसके पास अपने पिता की वजह से कनाडा की नागरिकता भी है। मीडिया में आई खबरों में कहा गया है कि ब्रिटेन ने उसकी ब्रिटिश नागरिकता खत्म कर दी है। ब्रिटेन और कनाडा दोनों की नागरिकता होने के चलते वह दोहरी नागरिकता वाला व्यक्ति था। जैक की नागरिकता खत्म करने का फैसला पूर्व प्रधानमंत्री टरीजा मे द्वारा किए गए अंतिम फैसलों में से एक है। ब्रिटेन ने इस साल के शुरू में आईएसआईएस से जुडऩे के कारण बांग्लादेश मूल की शमीमा बेगम की ब्रिटिश नागरिकता भी खत्म कर दी थी। वह पूर्वी लंदन की उन 3 लड़कियों में शामिल थी जो फरवरी 2015 में ब्रिटेन छोड़कर सीरिया पहुंच गई थीं। शमीमा ने वहां इस्लामिक स्टेट के एक आतंकवादी से शादी कर ली थी। ब्रिटेन के गृह विभाग का कहना है कि शमीमा अपनी पारिवारिक पृष्ठभूमि के चलते बांग्लादेशी नागरिकता का दावा कर सकती है, लेकिन बांग्लादेश ने कहा है कि वह देश की नागरिक नहीं है और उसे देश में घुसने की इजाजत नहीं दी जाएगी।