लंदन: इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज (Ashes Series) के पहले दो टेस्ट मैच हो चुके हैं इस सीरीज में 0-1 से पिछड़कर इंग्लैंड की टी सीरीज में बैकफुट पर है. पहले टेस्ट में 251 की हार के बाद दूसरे टेस्ट में टीम में पहली बार शामिल किए युवा गेंदबाज जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) ने इस मैच में काफी तेज बॉलिंग कर ऑस्ट्रेलियाई खेमे में दहशत फैलाने की कोशिश की. इसमें वे कुछ हद तक कामयाब भी रहे और उनकी गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलिया के खास खिलाड़ी स्टीव स्मिथ (Steve Smith) घायल भी हुए. हालांकि इसके बावजूद इंग्लैंड वह टेस्ट नहीं जीत सकी. अब इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) ने आर्चर की तारीफ की है. 

पहला टेस्ट मैच ही खेल रहे थे आर्चर
लॉर्ड्स टेस्ट ड्रॉ होने के बाद जो रूट ने कहा है कि टीम के युवा तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर मौजूदा एशेज सीरीज की दिशा बदल सकते हैं. आर्चर ने लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए एशेज सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच से खेल के सबसे लंबे प्रारूप में पदार्पण किया था. इस मैच में आर्चर ने शानदार गेंदबाजी की और अपनी अपनी एक बाउंसर से स्टीव स्मिथ को जमीन पर गिरा दिया था तो वहीं दूसरी पारी में उनके स्थान पर टीम में शामिल किए गए मार्नस लाबुस्शाने को भी बाउंसर से झटका दे दिया.

क्या कहा रूट ने आर्चर के बारे में
लॉर्ड्स टेस्ट में एक समय इंग्लैंड की टीम जीत के पास आती दिखी लेकिन उसके गेंदबाज ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को आउट न कर सके. रूट कहा है, "वह आए और उन्होंने बड़ा प्रभाव छोड़ा. उन्होंने हमारे गेंदबाजी आक्रमण में अलग चीज जोड़ी है और ऑस्ट्रेलिया को सोचने पर मजबूर किया." रूट ने कहा, "टेस्ट पदार्पण पर अगर कोई इस तरह का शानदार प्रदर्शन करता है तो यह देखना सुखद होता है. अपने अलग एक्शन और स्वाभाविक गति से उन्होंने चीजों को मुमकिन किया. इससे अंतिम तीन मैच रोचक हो गए हैं."

इंग्लैंड का दूसरे टेस्ट में बेहतर प्रदर्शन 
पहले टेस्ट में करारी हार के बाद इंग्लैंड लॉर्ड्स टेस्ट में मेहमान टीम पर हावी दिखी .टेस्ट कप्तान ने कहा, "एक चीज जो उन्होंने कर दी है वो यह है कि अब ऑस्ट्रेलिया इस बात पर सोचेगी कि उन्हें वापसी कैसे करनी है. आर्चर उनके खिलाफ मजबूती से आएंगे. इस तरह के गेंदबाज के खिलाफ स्लिप में खड़े होना बल्लेबाजी न करने से ज्यादा अच्छा होता है."
इस सीरीज से पहले घरेलू टीम इंग्लैंड का पलड़ा भारी माना जा रहा था. लेकिन पहले टेस्ट की हार ने उसकी बल्लेबाजी की कलई खोल दी थी. तीसरे टेस्ट में दोनों टीमें गुरुवार को लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर आमने-सामने होंगी. पांच मैचों की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया अभी 1-0 से आगे हैं और वह यह सीरीज बचाने के लिए खेल रही है. इससे पहले उसने अपने घर में 4-0 से यह सीरीज जीती थी.