नई दिल्ली: पैरालिम्पिक्स की सिल्वर मेडल विजेता दीपा मलिक (Deepa Malik) शनिवार को एशियाई और कॉमनवेल्थ गेम्स के चैंपियन पहलवान बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) के साथ देश के सर्वोच्च खेल सम्मान- राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए नॉमिनेट हुईं. 2016 के रियो पैरालिंपिक में शॉट पुट एफ 53 श्रेणी में सिल्वर जीतने वाली 48 साल की दीपा का नाम दो दिवसीय बैठक के दूसरे दिन 12 सदस्यीय चयन समिति द्वारा खेल रत्न के लिए जोड़ा गया.
65 किग्रा में दुनिया के नंबर-1 पहलवान बजरंग पूनिया को इस साल राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड से सम्मानित किया जाना है. यह अवार्ड खेल के क्षेत्र में दिया जाने वाला भारत का सर्वोच्च सम्मान है. पूनिया को कुश्ती के क्षेत्र में लगातार अच्छा करने के लिए अवॉर्ड दिया जाएगा.
भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) ने इस प्रतिष्ठित अवार्ड के लिए पूनिया के साथ ही महिला पहलवान विनेश फोगाट को यह अवार्ड देने की सिफारिश की थी. पूनिया ने पिछले साल एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था.
19 खिलाड़ियों को अर्जुन अवॉर्ड
चयन समिति ने अर्जुन पुरस्कार के लिए 19 खिलाड़ियों को चुना, जिनमें क्रिकेट खिलाड़ी रवींद्र जडेजा और पूनम यादव, ट्रैक एंड फील्ड स्टार तेजिंदर पाल सिंह तूर, मोहम्मद अनस और स्वप्ना बर्मन, फुटबॉलर गुरप्रीत सिंह संधू, हॉकी खिलाड़ी चिंगलेनसना सिंह कंगुजम और शूटर अंजुम शामिल हैं.
इनको मिलेगा द्रोणाचार्य अवॉर्ड
पैनल ने द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए तीन नामों को भी नामांकित किया, जिसमें पूर्व बैडमिंटन स्टार विमल कुमार,  टेबल टेनिस कोच संदीप गुप्ता और मोहिंदर सिंह ढिल्लन शामिल हैं. इसके अलावा द्रोणाचार्य पुरस्कार की लाइफ टाइम कैटेगरी में हॉकी कोच मेरज़बान पटेल, कबड्डी कोच रामबीर सिंह खोखर और क्रिकेट कोच संजय भारद्वाज का के नाम शामिल हैं.