माइग्रेन व्यक्ति को किसी भी उम्र में हो सकता है। अगर आप भी अपनी भागदौड भरी जिंदगी की वजह से अक्सर सिर के दर्द की शिकायत करते हैं। आपका ये दर्द कई बार कुछ देर के लिए नहीं कई घंटो रहता है। तो आपका ये दर्द माइग्रेन हो सकता है। दरअसल दिमाग में रसायनों के असंतुलन के कारण माइग्रेन होता है। अगर आप भी माइग्रेन से पीडित हैं तो ये खास आसन आपको हमेशा के लिए इस दर्द से राहत दिला सकता है।
शशांकासन योग करते समय व्यक्ति के शरीर का आकार खरगोश की तरह हो जाता है। माइग्रेन के दर्द के साथ ये आसन पीठ और गर्दन के दर्द को भी दूर करता है।
शशांकासन योग करने का तरीका-
शशांकासन योग करने के लिए सबसे पहले बैठकर दोनों एड़ीं पंजे आपस में मिला लें। अब हथेलियों को दाईं ओर रखें और पंजो को तान लें। घुटनों को टांगों से मोड़ते हुए वज्रासन की स्थिति में आ जाएं। अब दोनों घुटनों को दोनों ओर फैला दें तथा दोनों हथेलियों को दोनों घुटनों के मध्य जमीन पर टिका दें। सांस बाहर करते हुए कमर के निचले हिस्से से धीरे-धीरे झुकते जाएं ऐसा करते हुए हथेलियों को आगे खिसकाते रहें। अपनी ठोड़ी को धरती से लगा लें। फिर उल्टी क्रिया करते हुए धीरे-धीरे पूर्वावस्था आ जाएं। इस योग को करने से मनोविकार दूर होने के साथ स्मरणशक्ति भी अच्छी होती है। इतना ही नहीं यह आसन गुस्से को भी शांत करता है। माना जाता है जो लोग शॉर्ट टेम्पर यानी गुस्सैल स्वभाव के होते हैं, उन्हें यह आसन अवश्य करना चाहिए।