रतलामः मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में लगातार हो रही तेज बारिश से नदी नाले उफान पर हैं. ऐसे में इन नदी नालों से होकर गुजर रहे मार्गों की पुलिया के ऊपर से पानी बह रहा है और ये रास्ते जोखिम भरे हो गए हैं, जिसके चलते लोगों को आवागमन में भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है. लोगों को अपनी जान जोखिम में डालकर पुलिया पार करना पड़ रहा है. वहीं शुक्रवार को एक युवक पुलिया पार करते समय पानी में बह गया.

बता दें सालों से ग्रामीणों द्वारा जनप्रतिनिधि और प्रशासन से गुहार लगाने के बाद भी इन मार्गों पर पुलिया निर्माण नहीं होने से मजबूरन लोगों को जान जोखिम में डालकर रास्ता पर करना पड़ रहा है. ऐसे में लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ जाता है. ऐसा ही एक मामला सामने आया है जावरा के बामन खेड़ी मार्ग से. जहां पर नाले से रपट पुलिया पर करते वक्त 1 व्यक्ति बह गया, साथी युवक ने पुलिस को सूचना दी जिसके बाद से नाले में दूर तक युवक की तलाश की जा रही है, लेकिन फिलहाल तेज बहाव में बहे व्यक्ति का कोई सुराग नहीं मिला है.
दूसरी तरफ मचुन मार्ग पर मलेनी नदी रपट पुलिया के ऊपर से बह रही है, लेकिन ग्रामीण और बच्चे सभी इस जोखिम भरे रास्ते को पार करते नजर आ रहे हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि वह अपनी समस्याओं के बारे में पहले ही सांसद और विधायक को सूचित कर चुके हैं, लेकिन इन सबके बाद भी उनकी समस्याओं पर किसी ने ध्यान नहीं दिया और मजबूरन उन्हें अपनी जान जोखिम में डालकर इस पुलिया को पार करना पड़ता है.
बता दें इन दिनों पूरे मध्य प्रदेश के मौसम का मिजाज बदला हुआ है, राज्य के कई हिस्सों में शुक्रवार को भी बारिश का दौर जारी है. राज्य में बीते एक सप्ताह से मानसून की सक्रियता ने अधिकांश हिस्सों को तरबतर कर दिया है. कई हिस्सों में तो बारिश के चलते जनजीवन तक अस्त व्यस्त हो गया है. शुक्रवार की सुबह से ही राज्य के अलग-अलग हिस्सों में कहीं बादल छाए हुए हैं तो कहीं बौछारें पड़ रही हैं. साथ ही हवाएं भी चल रही हैं.