बड़वानी । सरदार सरोवर परियोजना में डूब प्रभावितों के लिए नगर अंजड के स्थानीय मार्केटिंग सोसायटी मैदान पर रहने के लिए अस्थाई शिविर बनाए गऐ हैं। जिनमें विस्थापित परिवारों के लिये स्थानीय शासन व प्रशासन सक्रिय रूप से काम करता दिखाई दे रहा है। फिलहाल कल देर शाम बढते जल स्तर के चलते अधिकारियों एवं पुलिस प्रशासन कि मौजुदगी में रामपुरा महोल्ले के रहवासी 11 परिवारों को यहाँ लाकर रखा गया है , जिनके पास फिलहाल आवास की कोई व्यवस्था नहीं है। मार्केटिंग सोसायटी परिसर में बने अस्थाई आवास शिविर में 11 परिवारों के खाने , रहने , पानी, बिजली, शौचालय के अलावा पशुओं को रखने की व्यवस्था की भी व्यवस्था कि गई है। छोटा बडदा रामपुरा के धन्नालाल मंगलिया , लता बाई पति नानुराम , गुड्डु पिता रामा , महेश सखाराम ने बताया प्रशासन फिलहाल हमें यहाँ रखने और रहने के लिये यहाँ सभी व्यवस्था कि है।  हमारी मांगें NVDA से यह है कि हम लोगों में से किसी को पांच लाख अस्सी हजार रूपये जो पुर्व में घोषणा कि गई थी वो मिलना चाहियै जिन लोगों को प्लाँट आवंटित नहीं हुऐ है उन्हे प्लाँट व अवार्ड कि राशी देकर पुनर्वास स्थलों पर लाकर बसाये हम लोग भी वहाँ रहना नहीं चाहते है। हम लोग छोटा बडदा रामपुरा महोल्लें में जहाँ फिलहाल जहाँ रह रहै है वहाँ आसपास जंगल बन चुका है रोज बडे बडे सांप निकलते है। और अब तो आने जाने का रास्ता भी बंद हो गया है। प्रशासन ने अब सुध लेकर हमारी उचीत मांगों को मानना चाहिये।  कब तक हम लोग इन अस्थाई शिवीरोओ में इस प्रकार आते रहेंगें। आगे बताते हुऐ कहा कि अभी तो सभी अधिकारी हमारी जरूरतों को समय पर पुरा कर रहै है।  मगर हमें भी तो न्याय सहित स्थाई घर मिलना चाहिऐ। 
तहसीलदार सवीता चौहान ने बताया छोटा बडदा के रामपुरा महोल्ले के 11 परिवारों के लगभग 34 सदस्य फिलहाल यहाँ रह रहै है उनकी रोजमर्रा कि सारी सुविधाओं का ध्यान रख प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी व्यवस्था बनाऐं हुऐ है। 
फिलहाल अस्थाई पुन्रवास केंद्र पर नोडल अधिकारी सहित राजस्व विभाग , नगर परिषद , स्वाथ्य विभाग का अमला तैनात है।