चेन्नै । ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज तेज गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा ने कहा है कि पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने पहले एशेज टेस्ट मैच में दो शतक लगाकर बल्ले से अपनी आलोचनाओं का जवाब देकर अपनी मानसिक मजबूती दिखायी है। मैकग्रा ने कहा कि स्मिथ के यह शतक इसलिए भी अहम हैं क्योंकि इससे पहले गेंद से छेड़छाड़ मामले के कारण वह बेहद बुरे दौर से गुजरे थे। स्मिथ ने गेंद से छेड़छाड़ के मामले में एक साल का प्रतिबंध झेलने के बाद इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन टेस्ट में वापसी करते हुए 144 और 142 रन बनाये थे। इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि गेंद से छेड़छाड़ का मामला गुजरे डेढ़ साल से ऊपर हो गया है ऐसे में इस मामले को अब भूल जाना ही अच्छा होगा। दर्शकों ने इस दौरान अपने स्मिथ की कड़ी परीक्षा ली और कई बार उन्हें हूटिंग का सामना करना पड़ा। मैकग्रा ने कहा, ‘ ऐसे में आपको अपने बल्ले से जवाब देना होता है। उस कठिन दौर से वापसी करके इस तरह से प्रदर्शन करने से स्मिथ की मानसिक मजबूती का ही अंदाजा होता है।’ स्मिथ को गेंद से छेड़छाड़ का दोषी पाए जाने के बाद एक साल का प्रतिबंध झेलना पड़ा है। इसके बाद उन्होंने विश्व कप क्रिकेट से वापसी की। अब एशेज सीरीज से पहले ही टेस्ट की दोनो पारियों में शानदार शतक बनाकर उन्होंने एक बार फिर अपने को साबित किया है।