जनसम्‍पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने प्रशासन अकादमी में जल शक्ति अभियान के तहत रेन वाटर हार्वेस्टिंग पर आयोजित कार्यशाला को संबोधित करते हुये कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को समुचित मात्रा में आवश्यकता अनुसार जल उपलब्ध कराने के लिये उसका संरक्षण आवश्यक है। प्रत्येक घर में वर्षाजनित जल को संरक्षित करने के लिये रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जाना निहायत जरूरी है। इसके लिये जन जागरण अभियान चलाये जाने की आवश्यकता है।

 मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि जल संरक्षण हमारे लिये बड़ी चुनौती है। जल संकट से निपटने के लिये हम सब को एक साथ मिलकर प्रयास करना होगा। गिरते भूजल स्तर से निपटने के लिये घरों में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाये। इसकी पहल नगर निगम की ओर से जल शक्ति अभियान के अंतर्गत की जानी चाहिये। उन्होंने कहा कि भोपाल में गर्मी के दिनों में पानी के प्रमुख स्त्रोत होने के बाद भी समस्या आयी। श्री शर्मा ने नगरीय प्रशासन एवं विकास आयुक्त पी. नरहरि को निर्देशित किया कि ऐसी व्यवस्था का निर्धारण होना चाहिये जिससे कि हर घर में नल कनेक्शन से जल वितरण की व्यवस्था की जाये और आपात स्थिति में टैंकर से पानी की आपूर्ति की जा सके।

 श्री शर्मा ने कहा कि बावडियों को भी संरक्षित करने की जरूरत है। बावडियों के रिचार्ज किये जाने की आवश्यकता है जिससे पानी की उपलब्धता  सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण के लिये कमलनाथ सरकार द्वार 'अक्षय जल संचय योजना' बनायी जा रही है ताकि प्रत्येक व्यक्ति को पानी का अधिकार मिले।

  मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि सावन का माह है और हरियाली महोत्सव चल रहा है। हम सभी को हरा-भरा और स्वच्छ व सुंदर भोपाल बनाने के लिये अधिक से अधिक पेड़-पौधे लगाना चाहिये। पौधारोपण में आम जन की भागीदारी और सहयोग अपेक्षित है।

 कार्यशाला में महापौर श्री आलोक शर्मा, निगम परिषद अध्यक्ष श्री सुरजीत सिंह चौहान, नगरीय प्रशासन एवं विकास आयुक्त श्री पी. नरहरि, नगर निगम कमिश्नर श्री बी. विजय दत्ता ने भी जल संरक्षण के लिये अपने संबोधन में आम जनता से आग्रह करते हुये उपायों के बारे में अवगत कराया। इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण और अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित रहे।