नई दिल्ली: शराब कारोबारी विजय माल्या की अपील पर आज लंदन हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. हाईकोर्ट से माल्या को राहत मिली है. कोर्ट ने प्रत्यर्पण के फैसले के खिलाफ अपील करने की मंजूरी दे दी है. वेस्टमिंस्टर कोर्ट द्वारा विजय माल्या के प्रत्यर्पण की मंजूरी देने के बाद यह मामला गृह मंत्रालय के पास पहुंचा था. गृह मंत्रालय ने कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा, जिसके बाद विजय माल्या हाईकोर्ट पहुंचा. पहली बार उसकी याचिका नामंजूर कर ली गई थी. बाद में शराब कारोबारी ने मौखिक सुनवाई के लिए फिर से आवेदन किया था, जिसपर आज सुनवाई हुई है. माल्या ने कोर्ट से कुछ समय और रहने की अनुमित मांगी है थी.
विजय माल्या का आरोप है कि उसे जान बूझकर निशाना बनाया जा रहा है. वह कई बार कह चुका है कि मैं बैंकों को पूरे पैसे चुकाने के लिए तैयार हूं. मैंने उन्हें कई बार इसकी पेशकश भी की है, लेकिन वे न जाने क्यों मानने को तैयार नहीं हैं. माल्या पहले कह चुका है कि मुझे भारत में भगोड़ा घोषित किया गया है. मेरे बारे में यह राय है कि मैं बैंकों के कर्ज नहीं चुकाना चाहता. लेकिन, यह गलत है. मेरे पास भारत में अभी भी इतनी संपत्ति है, जिसे बेचकर बैंकों के कर्ज चुकाये जा सकते हैं. मैं चाहता हूं कि इस दिशा में बैंक आगे बढ़ें.