साउथैम्टन । टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मो शमी ने कहा है कि अफगानिस्तान के खिलापफ अंतिम ओवरों में उन्हें पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने यॉर्कर फेंकने को कहा था। शमी ने कहा, ' मैं यॉर्कर फेंकना चाहता था। यहां तक कि इसके बाद माही भाई ने भी मुझे यही करने को कहा। उन्होंने कहा, 'अब कुछ बदलने की जरूरत नहीं है क्योंकि अब तुम्हारे पास हैटट्रिक लेने का शानदार मौका है। यह एक दुर्लभ अवसर है, तुम्हें यही करने की जरूरत है। तो मैंने वही किया जो मुझे करने को कहा गया।' भुवनेश्वर कुमार की चोट के कारण शमी को अंतिम एकादश में मौका मिला था। उन्होने कहा, 'मुझे किस्मत से अंतिम 11 में मौका मिला। मुझे जब भी मौका मिलता मैं उसके लिए तैयार था। मुझे इसका फायदा उठाना ही था। जहां तक हैटट्रिक की बात है तो यह किस्मत की बात है, खास तौर पर विश्व कप में। मैं हैटट्रिक लेकर काफी खुश हूं।'