मुंबई । भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) को ऋण देना जारी रखेगा। बैंक की तरफ से यह बयान ऐसे समय आया है, जब एनबीएफसी द्वारा ऋण चुकाने में असफल होने की आशंकाएं बढ़ रही हैं। जानकारी के मुताबिक बैंक के अनुसार एनबीएफसी की चुनौतियां बहुत अधिक गंभीर और प्रणाली विस्तृत नहीं हैं। एसबीआई एनबीएफसी को ऋण दे रहा है और आगे भी जारी रखेगा। मार्च 2019 तक एसबीआई का एनबीएफसी सेक्टर पर करीब 1.87 लाख करोड़ रुपए का ऋण है। गौरतलब है कि आईएल एंड एफएस और डीएचएफएल के समय पर ऋण चुका पाने में असफल रहने पर एनबीएफसी सेक्टर को लेकर पूंजी बाजार में चिंता काफी बढ़ी हुई है। रेटिंग एंजेंसियों ने तो डीएचएफएल की रेटिंग भी घटाई है। हालाँकि डीएचएफएल डिबेंचरों पर 962 करोड़ रुपए का ब्याज चुकाने में सफल रही।