डेन बोश । भारतीय पुरुष रिकर्व तीरंदाजी टीम ने यहां विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के साथ ही 2020 टोक्यो ओलंपिक खेलों के लिए कोटा हासिल किया हैं। वहीं महिला टीम को निराशा का सामना करना पड़ा है। भारत के तरूणदीप राय, अतनु दास और प्रवीण जाधव की टीम ने प्री क्वार्टर फाइनल में कनाडा को 5-3 से हराया। यह पहला अवसर है जब भारतीय पुरुषों ने टीम कोटा हासिल किया है। भारतीय पुरुष टीम रियो ओलंपिक 2016 के लिए क्वालीफाई करने में विफल रही थी और व्यक्तिगत वर्ग में भी अतनु दास प्री क्वार्टर फाइनल में हार गए थे।
ओलंपियन तरूणदीप राय ने कहा, ‘हमने अंतत: कर दिखाया। एक टीम के रूप में हम अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और अब टोक्यो खेलों को लेकर उत्साहित हैं।' उन्होंने कहा, ‘मुझे भरोसा है कि विरोधी टीमों पर भी इसी तरह का दबाव है। इसलिए अहम यह है कि धैर्य रखा जाए और यह हमारे लिए अच्छा रहा है।' वहीं महिला रिकर्व टीम को हालांकि हार का सामना करना पड़ा। 
अब भारतीय महिला टीम को ओलंपिक कोटा हासिल करने का अंतिम मौका बर्लिन में 2020 विश्व कप चरण तीन में मिलेगा जहां से शीर्ष तीन टीमें क्वालीफाई करेंगी। क्वालीफाइंग राउंड में छठे स्थान पर रहने के बाद कनाडा को पहले दौर में बाई मिला था। सीधे प्री क्वार्टर फाइनल में खेल रही कनाडा की टीम के खिलाफ भारत ने अच्छी शुरुआत की और भारतीय तिकड़ी ने तीन परफेक्ट शाट से शुरुआत की। भारतीय टीम ने पहला सेट 56-55 से जीता। दूसरे सेट की भी अच्छी शुरुआत करते हुए भारतीय तिकड़ी ने पहले सेट से एक अधिक अंक जुटाया और इसे 57-56 से जीतकर 4-0 की बढ़त बनाई। एरिक पीटर्स, क्रिसपिन डुएनास और ब्रायन मैक्सेल की तिकड़ी ने तीसरा सेट 58-54 से जीतकर मुकाबले को रोमांचक बनाया। भारत को जीत के लिए अंतिम सेट में टाई की जरुरत थी और 57-57 के स्कोर से भारत ने मुकाबला 5-3 से जीतकर ओलंपिक कोटा हासिल किया।