फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल से 11 जून दो दिन का बच्‍चा चुराने और आठ घंटे बाद ही पकड़े जाने वाली महिला ने अब पुलिस को नया किस्‍सा सुनाया है। किसी को बच्‍चा देने के लिए बच्‍चा चुराने की जो वजह महिला ने पहले बताई थी वो गलत निकली। आरोपित महिला गुरुनानकपुरा की निवासी है। महिला ने बताया कि उसके पंजाब के पटियाला जिले के गांव मूनक के एक युवक के साथ अवैध संबंध थे। युवक उससे शादी नहीं करना चाह रहा था। इसलिए उसने साजिश रची कि अस्पताल से बच्चा चोरी करके उसे बताएगी कि यह बच्चा तुम्हारा है। जिसके बाद उसे शादी करनी होगी। बुधवार को पुलिस ने महिला को कोर्ट में पेश किया और उसे जेल भेज दिया है। पुलिस ने इस मामले में महिला के खिलाफ किडनैपिंग का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

शहर थाना प्रभारी सुरेंद्र कंबोज ने मामले का खुलासा करते हुए कहा कि महिला का मूनक निवासी युवक के साथ पिछले कई महीनों से अवैध संबंध था। ये दोनों विवाह शादियों में काम भी करते थे। उनके अवैध संबंध बन गए। महिला का पति शराबी होने के कारण उसके साथ रहना नहीं चाहती थी। यह महिला युवक पर पिछले कई दिनों से शादी करने की दबाव भी बना रही थी। यही कारण है कि युवक ने महिला से बात करनी छोड़ दी थी।

 

महिला ने तीन दिन पहले एक प्लान तैयार किया कि अगर वह प्रेमी के पास एक बच्चा लेकर पहुंच जाए और कहे कि यह बच्चा उसका है तो उसे हर हाल में शादी करनी होगी। महिला पिछले दो दिनों से अस्पताल में आ रही थी। उसे पता चला कि गांव भूथनकलां निवासी एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया है। जिसके बाद वह अस्पताल में आशा वर्कर बनकर पहुंच गई। वह अपने साथ चार साल के एक लड़के को भी लेकर गई ताकि किसी को शक भी न हो। यह महिला रातभर उक्त महिला के पास रही। जब परिजन सोए तो यह महिला उक्त बच्चे को उठाकर अस्पताल से फरार हो गई।

बच्‍चा लेकर पहुंच गई प्रेमी के घर

 

महिला सुबह 6 बजे बस स्टैंड पहुंच गई और बस द्वारा टोहाना भी आ गई। महिला ने टोहाना से बच्चे के लिए दूध भी लिया था। टोहाना से यह महिला बस द्वारा ही मूनक निवासी युवक के घर पहुंच गई। युवक के पास जाते ही महिला ने कहा कि यह बच्चा तुम्हारा है और आज ही पैदा हुआ है। प्रेमी ने जब बच्चा देखा तो वह अच्छे तरीके से हाथ हिला रहा था और बड़ा भी लग रहा था। जिसके बाद उसे शक हुआ। महिला ने उक्त युवक पर दबाव बनाया कि अगर उसने शादी नहीं की तो यह बात सभी को बता देगी। लेकिन युवक ने महिला को धमकाते हुए कहा कि यह बच्चा तुम्हारा नहीं है। जिसके बाद महिला ने सारी बात बता दी। पुलिस के अनुसार युवक ही महिला व बच्चे को लेकर टोहाना के रेलवे स्टेशन पर पहुंचा।

जिसके बाद पुलिस भी वहां पर आ गई। युवक से भी पुलिस ने गहनता से पूछताछ की तो सारी बात सामने आ गई। वही महिला पिछले 15 दिनों से अपने घर गुरुनानकपुरा में नहीं गई थी। महिला के छह बच्‍चों में से छोटा लड़का उसके पास ही रह रहा था। जिसे पुलिस ने परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने महिला के खिलाफ किडनैप का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बुधवार को आरोपित महिला को कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

 

यह था मामला

9 जून को भूथनकलां निवासी राजप्रीत कौर ने एक बच्चे को जन्म दिया। जिसके बाद उसकी नलबंदी होनी थी। यहीं कारण था कि महिला अस्पताल में उपचाराधीन थी। 10 मई की शाम एक महिला अस्पताल में आई। यह महिला राजप्रीत कौर के पास पहुंच गई और कहा कि वह आशा वर्कर है और उनका एक केस आने वाला है। महिला राजप्रीत के साथ अच्छे से बात करने लगी और उसके बच्चे के साथ भी खेलने लग गई थी।

 

रात करीब 5 बचे महिला व परिजनों को नींद आ गई। इसका फायदा उठाते हुए महिला 5 बजकर 30 मिनट पर बच्चे को चुराकर ले गई। बाद में महिला ने शोर मचाया तो अस्पताल प्रशासन आया। सीसी फुटेज से पता चला कि यह महिला गुरुनानकपुरा मुहल्ले की रहने वाली है। जिसके बाद पुलिस ने करीब 8 घंटे बाद ही उक्त महिला व बच्चे को टोहाना के रेलवे स्टेशन से बरामद कर लिया था।