रायपुर। लोकसभा निर्वाचन के लिए 23 मई को होने वाली मतगणना में सुबह 8 बजे सबसे पहले डाकमत पत्रों की गिनती शुरू होगी और इसके ठीक आधे घण्टे बाद 8ः30 बजे से इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन के वोटो की गिनती शुरू हो जाएगी। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त सामान्य प्रेक्षक के प्रतिनिधि के रूप में मतगणना की सभी टेबलों में एक-एक माईक्रो आब्जर्वर भी रहेंगे जो जो मतगणना की संपूर्ण कार्रवाई पर नजर रखेंगे और प्रत्येक चक्र के परिणामों की जानकारी अपने प्रपत्र में भरेंगे और इसकी जानकारी आयोग के प्रेक्षक को देंगे। मतगणना के संबंध में जिला कलेक्टोरेट परिसर स्थित रेडक्रॉस सभाकक्ष में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. बसवराजु एस. की उपस्थिति में आज माईक्रो आब्जर्वरों का प्रथम चरण का प्रशिक्षण आयोजित किया गया।
गौरतलब है कि केन्द्रीय कर्मचारियों को माईक्रो आब्जर्वर के रूप में मतगणना टेबलों में तैनात किया गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर डॉ. बसवराजु एस. ने माईक्रो आब्जर्वरों के दायित्वों और मतगणना की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी। माईक्रो आब्जर्वरों को डाकमतपत्रों की गिनती, ईव्हीएम से वोटो की गिनती, वीवीपैट की पर्चीयों की गिनती तथा मतगणना के विधिक प्रावधानों के बारे में विस्तार से बताया।
उन्होंने मतगणना कार्य में तैनात किए जा रहे सभी माईक्रो आब्जवरों से भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुरूप कार्य संपादित करने को कहा है। डॉ. बसवराजु ने कहा है कि माइक्रो आब्जर्वर गणना टीम के हिस्सा नही है बल्कि वे केन्द्रीय आब्जर्वर के प्रतिनिधि के रूप में प्रत्येक टेबल में उपस्थित रहेंगे और यह देखेंगे कि गणना टीम आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुरूप गणना कार्य संपादित कर रही है कि नही। माइक्रो आब्जर्वरों को प्रदान किये गये प्रपत्र में जानकारी भरकर वे केन्द्रीय प्रेक्षक महोदय को उपलब्ध करायेंगे। मतगणना कार्य हेतु जिन अधिकारी-कर्मचारियों की ड्यूटी लगी है वे सभी अधिकारी एवं कर्मचारी सुबह 6 बजे अपना परिचय पत्र ले कर मतगणना स्थल शासकीय इंजीनियरिंग कालेज सेजबहार पहुंचेंगे। सभी को सुबह 7 बजे तक मतगणना टेबल में उपस्थित हो जाना है। मतगणना स्थल में मोबाईल फोन सहित कोई भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट, कैलकुलेटर, पेन, ड्रॉईव पेन अथवा पेंसिल ले जाना मना है। मतगणना अधिकारियों और कर्मचारियों को किस टेबल में उपस्थित होकर मतगणना करनी है यह सुबह 5 बजे सामान्य प्रेक्षकों की उपस्थिति में तीसरे रैण्डमाईजेशन के बाद ही निर्धारित होगा। इस अवसर पर अतिरिक्त कलेक्टर दीपक अग्रवाल, उपजिला निर्वाचन अधिकारी राजीव पांडे भी उपस्थित थे।