कोलंबो । श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए घातक बम धमाके के पश्चात  हालात अभी असामान्य हैं।  पूरे देश में सांप्रदायिक हिंसा भड़की हुई है। इसके मद्दनेजर बुधवार को कई क्षेत्रों में फिर से कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसमें 100 से अधिक लागों को गिरफ्तार भी किया गया है। प्रशासन ने देशभर से कर्फ्यू हटाने के कुछ ही घंटों बाद फिर से कर्फ्यू लगाने की घोषणा की। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पुलिस प्रवक्ता एसपी रूवान गुणाशेखर ने बताया कि उत्तरी पश्चिमी प्रांत और गांपाहा पुलिस क्षेत्र में बुधवार रात सात बजे से गुरुवार सुबह चार बजे तक कर्फ्यू लगा रहेगा। वहीं, सैन्य प्रवक्ता ने स्थिति के अब पूरी तरह नियंत्रण में होने की बात कही। श्रीलंका की वायुसेना के प्रवक्ता ग्रुप कैप्टन गिहान सेनेविरात्ने ने कहा कि वायुसेना अवैध रूप से जमा होने और हिंसा के कृत्य पर रोक लगाने में मदद के लिए दिन-रात हेलीकॉप्टर से निगरानी करेगी। उन्होंने कहा, ‘हमने ऐसी गतिविधियों में शामिल लोगों के बारे में आसमान से फोटोग्राफिक सबूत हासिल करने और कानून तोड़ने वालों के खिलाफ ऐसे सबूत इकट्ठा करने के लिए यह कदम उठाये हैं।’ गुणाशेखर ने बताया कि सबसे अधिक प्रभावित पश्चिमी प्रांत में मुस्लिम विरोधी हिंसा को लेकर कम से कम 78 लोग गिरफ्तार किये गये हैं। बाकी संदिग्ध देश के अन्य हिस्सों से गिरफ्तार किये गये हैं। इस बीच वित्त मंत्री मंगला समरवीरा ने कहा कि श्रीलंका को आतंकवादी हमले के बाद की स्थिति में अमेरिका या किसी अन्य देश से सेना बुलाने की जरूरत नहीं है।