चावल बंगाल, बिहार, असम क्षेत्र का मुख्य भोजन है. वहां के लोगों को ऐसा लगता है कि जब तक चावल न खाया जाए तब तक पेट नहीं भरता है. 
वहीं कई लोगों का ऐसा सोचना है कि चावल खाने से सिर्फ और सिर्फ मोटापा बढ़ता है. पर हम आपको बता दें कि ऐसा कुछ नहीं है बल्कि स्वास्थ्य के लिहाज से चावल खाने के कई फायदे हैं. जिस आहार को बाकी की तुलना में इतना कम आंका जाता है उसके एक नहीं बल्कि ढेरों फायदे हैं.

- चावल कई तरह के विटामिन और मिनरल्स का खजाना है. इसमें नियासिन, विटामिन डी, कैल्श‍ियम, फाइबर, आयरन, थायमीन और राइबोफ्लेविन प्रचूर मात्रा में पाया जाता है. 

- चावल में अच्छी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है जो शरीर को ऊर्जा देने का काम करता है. 

- इंसान का दिमाग इसी ऊर्जा से शरीर का संचालन करता है. चावल से प्राप्त ऊर्जा उपापचय की क्रिया को भी नियमित रखता है.

- चावल में न तो हानिकारक फैट होता है न कोलेस्ट्रॉल और न ही सोडियम. 

- चावल में सोडियम की मात्रा न के बराबर होने की वजह से यह हाई ब्लड प्रेशर के लोगों के लिए नुकसानदायक नहीं होता है. 

- होल ग्रेन राइस जैसे ब्राउन राइस में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है. कई शोधकर्ताओं का मानना है कि चावल में मौजूद ये तत्व जैसे फायबर कैंसर कोशिकाओं को विकसित नहीं होने देता है.

- चावल का मांड त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होता. इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण झुर्रियों को आने से रोकते हैं और ढलती उम्र के प्रभाव को भी दूर रखते हैं. 

- दस्त में हल्का गीला चावल खाना बहुत फायदेमंद होता है. पुराने समय में तो इसे बतौर दवा इस्तेमाल किया जाता था. इसके सेवन से पेट ठंडा रहता है.