नई ‎दिल्ली । सरकार की ओर से एनबीसीसी के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक (सीमएडी) अनूप कुमार मित्तल को सेवा विस्तार देने से इनकार करने के बाद उन्होंने सेवानिवृत्ति की आयु से 10 महीने पहले ही इस्तीफा दे ‎दिया है। सूत्रों के मुता‎बिक मित्तल का कार्यकाल 31 मार्च 2019 को समाप्त हो गया था और वह जनवरी 2020 में 60 वर्ष की सेवानिवृत्ति आयु तक विस्तार के हकदार थे लेकिन सरकार ने उन्हें विस्तार देने से इनकार कर दिया था। इसके बाद मित्तल ने अपना पद छोड़ दिया है। आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय के एक नौकशाह को अस्थायी रूप से कार्यभार सौंपा गया है।