भोपाल। भोपाल पुलिस जोन के अंतर्गत राजगढ़ जिले की पुलिस एवं जिला प्रशासन की टीम ने संयुक्त कार्रवाई कर लगभग 52 लाख रुपये कीमत की अवैध शराब औऱ देशी शराब बनाने में प्रयोग होने वाला गुड़ लहान जब्त किया है। साथ ही लगभग एक दर्जन से अधिक आरोपियों के खिलाफ आबकारी एक्ट के मामले दर्ज किये गए हैं। जानकारी के अनुसार राजगढ़ की जिला कलेक्टर निधि निवेदिता एवं पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा ने स्वयं टीम का नेतृत्व कर दो अलग-अलग गांवों में इस बड़ी कार्रवाई  को अंजाम दिया। गोरतलब है की लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र पुलिस महानिदेशक विजय कुमार सिंह के निर्देश पर पुलिस द्वारा अवैध शराब की जब्ती और इस अवैध कारोबार में लिप्त लोगों को धरपकड़ के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसी कडी में पुलिस ने  प्रशासनिक अमले के साथ मिलकर यह बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस महानिरीक्षक भोपाल जोन जयदीप प्रसाद ने बताया पुलिस एवं जिला प्रशासन कीसंयुक्त टीम पहले राजगढ़ जिले के ब्यावरा देहात थाना अंतर्गत कटारिया खेड़ी गांव में छापामार अंदाज में दाखिल हुई। टीम ने संभलने का मौका दिए बिना ही कार्रवाई की और जगह जगह पर अवैध रूप से कच्ची शराब बनाने के  उपकरणों को तहस-नहस किया। टीम ने कच्ची शराब बनाने वाले उपकरणों को ढूंढ ढूंढ कर करीब 32 लाख रुपये का लगभग 8 हज़ार किलो महुआ लहान नष्ट किया। साथ ही संदिग्ध  घरों में से तलाशी लेकर तकरीबन 1 लाख 10 हजार रुपये कीमत की करीबन एक हज़ार लीटर अवैध कच्ची शराब भी जप्त की गई। जिला दंडाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने इसके बाद पुलिस एवं प्रशासनिक टीम के साथ ग्राम गुलखेड़ी में अवैध  शराब के अड्डों पर छापामार कार्रवाई की। इस कार्रवाई में करीबन 7 हज़ार लीटर अवैध शराब जप्त की  गई। साथ ही अवैध शराब के अड्डों को तहस-नहस किया गया। बताया गया है की ग्राम गुल खेड़ी से तकरीबन 29 पेटी आईबी व्हिस्की, 109 पेटी संतरा देसी मदिरा, 193 पेटी पीली केन वाली हंटर बियर, 200 पेटी हरी हंटर बोतल, 16 पेटी पावर बियर एवं ऑल सीजन व्हिस्की , करीब 21 लीटर एवं बीयर और संतरा की खुली हुई 1800 लीटर अवैध शराब जप्त की गई। इस प्रकार कुल 7000 लीटर अवैध शराब को जप्त कर एक बहुत ही बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया। जब्त शराब की कीमत लगभग 21 लाख रुपये आंकी गई है। ग्राम गुल खेड़ी के  एक दर्जन से ज्यादा लोगों पर धारा 34(2)  आबकारी अधिनियम के अंतर्गत वैधानिक कार्यवाही की जा रही है । आरोपियों के विरुद्ध 15 से अधिक प्रकरण दर्जकर अपराध में शामिल अन्य आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है।