बीजिंग । पडोसी देश चीन बहुत जल्द अपनी दो बच्चा नीति को खत्म करेगा। वहां अब लोगों को कितने भी बच्चे पैदा करने की अनुमति दी जाएगी। जनसंख्या वृद्धि दर में गिरावट से जूझ रहे चीन की जनसंख्या नीति के एक विशेषज्ञ ने बताया कि मार्च में इससे संबंधित प्रस्ताव संसद में पेश किया जा सकता है। पेकिंग विश्वविद्यालय के जनसंख्या अनुसंधान संस्थान के शोधार्थी म्यू गुआंगजॉन्ग के दावे को दूसरे जनसंख्या विशेषज्ञों ने भी सही बताया है। चीन ने पिछले साल ही कम जनसंख्या के संकट से उभरने के लिए एक बच्चा नीति में कुछ परिवर्तन कर दूसरा बच्चा पैदा करने की छूट दी थी। सोमवार को जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक 2018 में चीन में 1,53 करोड़ बच्चों का जन्म हुआ जो पिछले वर्ष 2017 के मुकाबले 20 लाख कम है। पिछले 60 सालों में यह चीन में सबसे कम जनसंख्या वृद्धि दर है।चीन की जनता सरकार से दो बच्चा नीति को पूरी तरह खत्म करने के लिए मांग करती रही है। कम जनसंख्या वृद्धि वाले इलाकों में यह मांग जायज भी है। हालांकि इस दिशा में चीन सरकार ने अभी तक कोई समयसीमा निर्धारित नहीं की है लेकिन ऐसी उम्मीद है कि मार्च में होने वाले संसद सत्र में दो बच्चा नीति को खत्म करने का प्रस्ताव संसद में पेश किया जा सकता है। सीमित जनसंख्या वृद्धि दर से निपटने की उद्देश्य से ही चीन ने 2016 में एक बच्चा नीति को दो बच्चा नीति में बदला था। लेकिन इस कदम के सकारात्मक परिणाम नहीं मिले। म्यू ने कहा कि चीन सरकार इस मामले पर गंभीर है।  चीन में वर्तमान में 24 करोड़ आबादी 60 साल या उससे अधिक उम्र की है। यह कुल आबादी का 17, 9 फीसदी के बराबर है। वहीं तकरीबन 53 लाख लोग हर साल इस सीमा में आ रहे हैं।