महात्मा विदुर अपनी तीव्र बुद्धि और दूरदर्शिता के लिए जाने जाते थे। हर कोई उनकी दूरदर्शिता का कायल था। महाभारत में महात्मा विदुर और राजा धृतराष्ट्र के बीच 'महाभारत' युद्ध से पूर्व जो नीतिगत बाटें हुई, उसे 'विदुर नीति' के नाम से जाना जाता है।
महाभारत कालीन वो नीतियां आज के समय भी प्रासंगिकहै। विदुर नीति के अनुसार मनुष्य के अंदर अगर ये बातें हो तो उसके घर में कभी बरकत नहीं होती। आइए जानते हैं वो बातें-

आलस- जो व्यक्ति हर कार्य में आलस दिखाता है, उस पर माता लक्ष्मी मेहरबान नहीं होती। अक्सर ऐसे लोग किसी भी कार्य को भविष्य पर टाल देते हैं, लेकिन ऐसा करने से वह अपना ही नुकसान कर लेते हैं। विदुर नीति के अनुसार मनुष्य का सबसे बाद शत्रु आलस ही है। इसलिए हर व्यक्ति को आलस्य का त्याग कर मेहनत करनी चाहिए ।

भगवान पर निर्भर रहने वाले- आपके आसपास अक्सर अपने कई ऐसे लोग देखे होंगे जो भगवान के भरोसे होते हैं। उनके मुख से हर समय आप यही सुनेंगे हम तो भगवान भरोसे हैं, होगा वही जो वो करेंगे। लेकिन ऐसा करने वालों का जीवन हमेशा आर्थिक तंगी में बीतता है। ईश्वर में विश्वास जरूरी है लेकिन साथ ही कर्म करना भी जरूरी है । ईश्वर भी मेहनत के अनुसार ही मदद करेंगे।

कम में ज्यादा चाहने वाले- अक्सर लोग मेहनत नहीं करना चाहते, बल्कि उनकी इच्छा होती है उन्होंने जितना कार्य किया है उससे ज्यादा उन्हें मिले। लेकिन ऐसा संभव नहीं है। विदुर नीति के अनुसार जो लोग कड़ी मेहनत से जी चुराते हैं, उन्हें काभी बरकत प्राप्त नहीं होती। ऐसे लोग कभी भी अपने जीवन में तरक्की नहीं कर पाते। इसलिए जीवन में आगे बढ़ना है तो मेहनत करनी जरूरी है।

साफ-सफाई: जिन घरों में साफ-सफाई नहीं होती वहां कभी धन की पूर्ति नहीं होती। विदुर नीति के अनुसार मां लक्ष्मी का वायस वहीं होता है जहां साफ सफाई हो। इसलिए साफ सफाई भी जरूरी है।