बीजिंग । चीन ने दुनिया की पहली ड्राइवरलेस हाईस्पीड बुलेट ट्रेन का परीक्षण किया है, जो 350 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती है। इस बीजिंग और झांगजियाको के बीच चलाया जाएगा।इसके बाद तीन घंटों का सफर सिर्फ 47 मिनटों में ही तय होगा। बता दें कि इस ट्रेन को साल 2022 में होने वाले ओलंपिक खेलों को ध्यान में रखते हुए लाया जा रहा है। चीनी अखबार ने बताया है कि इस ट्रेन का सफल परीक्षण हो गया है और कुल मिलाकर इस पर 56,496 करोड़ खर्च किए गए हैं। चीनी रेलवे के अधिकारी जिंग जैंग का कहना है कि इस ट्रेन में यात्रियों को खूबसूरत लाइटनिंग के साथ आरामदायक यात्रा का भी अनुभव मिलेगा। यात्रा के दौरान यह ट्रेन 10 स्टेशनों पर रुकेगी। ट्रेन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। यह बिना चालक के दौड़ने वाली दुनिया की पहली स्मार्ट हाई स्पीड ट्रेन है,इस बनाने में 4 वर्षों का समय लगा है। इसमें 5जी कनैक्टिविटी, सीट के साथ टचस्क्रीन पैनल्स, इंटैलिजेंट लाइटनिंग, 2,718 सैंसर्स, फेशियल रिकोग्निशन टैक्नोलॉजी और वायरलैस फोन चार्जिंग जैसे फीचर्स मौजूद है। इस ड्राइवरलेस ट्रेन का नाम 'रिजुवेनेशन' रखा गया है।