बैतूल। अब तक पुलिस विभाग के कर्मचारी या अफसरों के हाथ मे ही डंडा देखा होगा पर अब जरूरत के मुताबिक राजस्व विभाग के अफसर भी डंडा भांजते हुए नजर आ सकते है। जी हाँ कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी संभालने वाले राजस्व के अफसरों के पास भी पुलिस वाला डंडा आ गया है। बताया जा  रहा कि कानून व्यवस्था में जिस तरह के उग्र आंदोलन वाले हालात चल रहे हैं, माफिया जिस तरह आक्रमक हो रहा है उसे देखते हुए राजस्व विभाग के अफसरों के वाहन में डंडा सहित अन्य सुरक्षा साधन रखवाए गए है।
 सोमवार को स्वयं एडीएम ने इसकी शुरुआत कर सुरक्षा सामग्री अपने वाहन में रखवाई है। यह सामग्री आपदा राहत के तहत उपलब्ध कराना बताया जा रहा है। एडीएम सहित सभी सहित एसडीएम सभी तहसीलदार और सभी नायब तहसीदारों को सुरक्षा इंतजाम उपलब्ध कराए गए।

- क्या क्या दिया गया...
1. एक मजबूत रस्सी जिसकी लम्बाई करीब पांच मीटर है।
2. एक चार फीट की बेंत जो पुलिसकर्मियों के पास रहती है।
3. एक टॉर्च जिसकी रोशनी दूर तक जाती हो और ज्यादा क्षेत्र में फैलती हो। 
4. एक विसिल या सीटी भी दी गई है। 
5. एक छाता भी दिया गया है जिससे पानी बौछार में स्वयं बच सके।

- भीड़ कंट्रोल के लिए है इंतजाम...
वर्तमान में जिस का माहौल चल रहा है आंदोलनों की स्थितियां बन रही है उसमें राजस्व अधिकारियों के पास किसी भी तरह का कोई संसाधन नहीं होता है कि वे इस स्थितियों में अपनी सुरक्षा या उससे निपटने में कहीं कोई सहायक हो पाए, इसलिए इस तरह के आपदा नियंत्रण के सामान मुहैया कराए गए है। 

- बे-लगाम माफिया के लिए भी इंतजाम...
जिस तरह से रेत माफिया या अन्य तरह के माफिया पर कार्रवाई चल रही है, उससे माफिया बौखलाया हुआ है, पूर्व में कई घटनाएं ऐसी सामने आ चुकी है, जिसमें माफिया ने अधिकारियों पर पलटवार कर दिया, जिसमें गंभीर घटनाएं हुई है इन घटनाओं को भी ध्यान मेें रखते हुए इस तरह की सामग्री राजस्व अधिकारियों को उपलब्ध कराई गई है। 

- रेत पकडऩे की जिम्मेदारी अब राजस्व अधिकारियों पर ...
जिस तरह से रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन की धरपकड़ में राजस्व अधिकारियों की सक्रिय और रिजल्ट वाली भूमिका है, उसे देखते हुए भी धरपकड़ और छापामार कार्रवाई के लिए टार्च, विसिल और डंडे का होना जरूरी है, संभवत: यह भी एक बड़ा कारण है जिसकी वजह से राजस्व अधिकारियों को डंडा, टार्च थमाया जा रहा है। 

- इनका कहना...
यह सामग्री मैंने ही राजस्व अधिकारियों के वाहन में रखवाई है। सुरक्षा और आपदा नियंत्रण के लिए इस तरह की सामग्री वाहन में होना चाहिए।
- साकेत मालवीय,
एडीएम, बैतूल