मानसून की शुरुआत में मौसम में उमस के कारण महिलाओं को मेकअप में परेशानी आती है। इसका कारण यह है कि उमस से फाउंडेशन गलने लगता है और आई लाइनर व लिपस्टिक फैलने लगती है। ऐसे में महिलाओं के लिए किसी समारोह में जाने पर मेकअप को बरकरार रखना सबसे बड़ी समस्या होती है। उमस के दौरान मेकअप करते समय इन बातों का ध्यान रखें।
अगर आपके चेहरे पर ज्यादा दाग-धब्बे और हल्के गड्ढ़े या दाने हैं, तभी मेकअप-प्राइमर लगाएं क्योंकि ऐसा करना इस मौसम में उपयुक्त होगा, यह त्वचा की सतह को समतल कर देगा और इससे मेकअप ज्यादा देर तक टिका रहेगा, लेकिन जिन्हें ऐसी समस्या नहीं हैं, उन्हें प्राइमर लगाने की कोई जरूरत नहीं है।
उमस के मौसम में पसीने के साथ बहने की संभावना के चलते लिक्विड या क्रीम फाउंडेशन के बजाय ऑयल-फ्री मॉइश्चराइजर का हल्का कोट लगाया जा सकता है, टच-अप के लिए हल्का कॉम्पैक्ट पाउडर लगा सकती हैं।
अगर आप दाग-धब्बों या काले घरे को छिपाना चाहती हैं तो ऑयल-फ्री कंसीलर लगा सकती हैं, क्योंकि ऑयल युक्त कंसीलर उमस में चेहरे को चिपचिपा और तैलीय बनाता है। हमेशा ऑयल-फ्री मेकअप उत्पाद ही खरीदें। 
मानसून के दौरान हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि आपका ब्लश सौम्य और परिधान को सूट करते हुए होना चाहिए। पाउडर आईशैडो खरीदें क्योंकि ये क्रीम आई शैडो के मुकाबले ज्यादा देर तक टिके रहते हैं। हल्का रंग का थोड़ा सा आई शैडो लगाएं।
लिक्विड आईलाइनर लगाएं क्योंकि ये वैक्स वाले पेंसिल आईलाइनर की तुलना में ज्यादा टिकाऊ होते हैं।
बरौनियों पर वाटरप्रूफ मस्कारा लगाएं, यह ज्यादा देर तक टिकेगा।
लिप ग्लॉस आसानी से मिट जाते हैं, इसलिए लिप बॉम लगाकर होंठ को मुलायम बनाएं और लिपस्टिक लगाएं, विकल्प के तौर पर आप ज्यादा देर तक टिका रहने वाला शीयर ग्लॉस लगा सकती हैं। इस मौसम में होंठ पर शीमर लगाना ठीक नहीं रहता।