ग्वालियर. लॉक डाउन (lockdown) के दौरान जब पूरे देश-दुनिया की रफ्तार थमी हुई है ऐसे माहौल में भी ग्वालियर चंबल (gwalior chambal) में माफिया सक्रिय है. ग्वालियर में भितरवार तहसीलदार कुलदीप दुबे और उनकी टीम पर रेत माफिया ने हमला कर दिया. हमले में दुबे घायल हो गए. उनकी शिकायत पर पुलिस ने 55 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है.

कुलदीप दुबे अपनी टीम के साथ देर रात जिले की सीमा के चेक प्वॉइंट का जायजा लेने गए थे. उसी दौरान माफिया के गुर्गों ने उन पर फायरिंग और पथराव कर दिया. इसमें तहसीलदार कुलदीप दुबे की आंख के ऊपर गहरी चोट आई है. हमले के बाद घायल हालत में ही दुबे भितरवार थाने पहुंचे औऱ शिकायत दर्ज करायी. उनकी शिकायत पर पुलिस ने 5 नामजद सहित 55 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

तहसीलदार ने टोका तो माफिया ने किया हमला
तहसीलदार कुलदीप दुबे अपने साथियों नायब तहसीलदार कमल सिंह कोली और चालक राजू बाथम को साथ लेकर लोहारी पुल के पास लगाए चेकिंग प्वॉइंट का जायजा जा रहे थे. रास्ते में सांखनी तिराहे के पास उन्हें 10-12 गाडियां खड़ी नजर आयीं. इस पर तहसीलदार ने गाड़ी रोककर पूछताछ की, तो उन लोगों ने पथराव शुरू कर दिया. पथराव में तहसीलदार कुलदीप दुबे की आंख में चोट आई और वाहनों के शीशे टूट गए. बाद में रेत माफिया ने फायरिंग भी की. घटना के दौरान तहसीलदार अपने अमले के साथ जान बचाकर भितरवार भागे. SDM और कलेक्टर को सूचना देने के बाद उन्होंने भितरवार थाना में FIR दर्ज कराई.

रेत माफिया ने किया हमला
तहसीलदार कुलदीप की रिपोर्ट पर लल्लो गुर्जर, बंटी उर्फ नरोत्तम गुर्जर, कल्ला गुर्जर, गिल्लू गुर्जर और सतीश गुर्जर सहित 50 से 55 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है. आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 353, 321, 336 और धारा 307 भादंवि के तहत मामला दर्ज किया गया है.कुलदीप दुबे ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान भी रेत माफिया खनन में लगे है. रोकने पर वो हमला कर रहे हैं.

पुलिस पहुंची तो भागे हमलावर...
हमले की खबर मिलते ही भितरवार थाने से पुलिस बल मौके पर पहुंचा लेकिन तब तक सभी आरोपी भाग चुके थे. पुलिस को मौके पर दो बाइक मिली हैं जिन्हें जब्त कर लिया गया है. जहां यह वारदात हुई, वहां माफिया के लोग रेत खनन का टोकन काटते हैं.