जबलपुर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की संस्कारधानी जबलपुर (Jabalpur) के गोहलपुर थाना अंतर्गत अमखेरा में एक ही परिवार के सदस्यों के बीच संपत्ति को लेकर विवाद इतना बढ़ गया कि चाचा ने भतीजे पर गोली (Shot) चला दी, जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया. मौके पर मौजूद लोगों ने घायल को तुरंत निजी अस्पताल (Private Hospital) पहुंचाया, लेकिन तब तक घायल ने दम तोड़ दिया था. मृत युवक कांग्रेस से जुड़ा हुआ था और पार्षद (Corporation) का चुनाव (Election) लड़ने की तैयारी कर रहा था. क्षेत्र में बढ़ते तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

लंबे समय से चल रहा था विवाद
मालगुजार परिसर में रहने वाले कुशवाहा परिवार में दो भाइयों के बीच पारिवारिक सम्पत्ति को लेकर पिछले कई दिनों से ये विवाद चल रहा था, लेकिन परिवार के बुजुर्गों के द्वारा समझाईश देकर मामले को शांत कर दिया जाता था. शुक्रवार की सुबह भी इसी बात को लेकर बुजुर्ग राजाराम कुशवाहा और उसके सगे भतीजे भरत कुशवाहा के बीच बहस होने लगी. देखते ही देखते बात इतनी बढी कि राजाराम कुशवाहा ने भरत कुशवाहा को गोली मार दी. बेहद नजदीक से चलाई गयी गोली, भरत की आंख के ऊपर लगी और भरत वहीं बेहोश हो गया और खून बहने लगा. मौके पर मौजूद परिवार के लोग भरत को लेकर निजी अस्पताल पहुंचे, लेकिन तब तक भरत की सांसे थम चुकी थीं.

इलाके में तनाव, आरोपी गिरफ्तार


इस वारदात की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची गोहलपुर थाना पुलिस ने आरोपी राजाराम को हिरासत में ले लिया है. इसके साथ ही पुलिस कुशवाहा परिवार के कुछ अन्य सदस्यों को भी गोहलपुर थाने लेकर आयी और उनसे पूछताछ हुई. भरत कुशवाहा की मौत की खबर सुनते ही उसके घर के सामने लोगों की भीड़ जमा हो गई. दरअसल भरत कुशवाहा कांग्रेस नेता था और पार्षद का चुनाव लडने की तैयारी कर रहा था, जिस वजह से वह क्षेत्र के सामाजिक कार्यों मे बेहद सक्रिय था. क्षेत्र में बढते तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल को तैनात किया गया है. एसपी अमित सिंह ने बताया कि पारिवारिक संपत्ति के विवाद की वजह से ही यह हत्याकांड हुआ है, जिसकी जांच की जा रही है.