नई दिल्ली । भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) ने पुरुष फ्रीस्टाइल कोच हुसैन करीमी को छह महीने में ही बर्खास्त कर दिया है। डब्ल्यूएफआई के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा, ‘वह वीआईपी संस्कृति का पालन कर रहे थे और उनकी मांगों को मानना बेहद मुश्किल हो गया था। हमने भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) को इसकी जानकारी दे दी है। हम अब नया कोच ढूंढ रहे हैं।' करीमी के साथ काम करते हुए डब्ल्यूएफआई को किन परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। तोमर ने कहा कि वह कभी कोचों या पहलवानों के साथ रिश्ते नहीं बना पाए। तोमर ने कहा, ‘‘उनकी हमेशा कोई ना कोई शिकायत या मांग होती थी। उन्होंने साइ परिसर में रहने से इनकार कर दिया जहां राष्ट्रीय शिविर चल रहा था इसलिए हमें साइ केंद्र के समीप उनके लिए फ्लैट किराए पर लेना पड़ा। वह जब भी भारत में यात्रा करते थे तो हमें उन्हें कार मुहैया करानी पड़ती थी।' उन्होंने कहा, ‘वह हमेशा टूर्नामेंटों के दौरान अकेले रहने पर जोर देते थे जबकि अन्य कमरे साझा करते थे। नूर-सुल्तान में विश्व चैंपियनशिप के दौरान भी यूडब्ल्यूडब्ल्यू के निर्देशों के अनुसार दो लोगों को कमरा साझा करना था लेकिन वह अकेले रहे। उनकी सभी मांगों को स्वीकार करना मुश्किल था।'