भोपाल । मध्यप्रदेश में कमजोर हुए मानसून ने फिर रफ्तार पकड़ ली है। जिसके चलते सोमवार शाम से ही बारिश का दौर फिर से शुरू हो गया है। भोपाल समेत कई जिलों में रिमझिम तो कहीं तेज बारिश जारी है। पिछले 24 घंटों में इंदौर, शहडोल व रीवा संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर तथा शेष संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बारिश हुई। इधर, तेज बारिश की वजह से सागर से भोपाल का संपर्क टूट गया है। राहतगढ़ और बेगमगंज में बीना नदी उफान पर आ गई है। मौसम विभाग की माने तो आगामी 24 घंटे में भोपाल समेत 31 जिलों में गरज-चमक के साथ भारी बारिश की संभावना है। बारिश के चलते कई गांव टापू बन गए हैं, तो कई जगहों का संपर्क कट गया है। नदियां उफान पर हैं। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि, बंगाल की खाड़ी में कम दवाब का क्षेत्र बनने से आगामी 24 घंटों में राज्य में कई हिस्सों में बारिश हो सकती है। अगले 48 घंटों के दौरान और अधिक ताकतवर हो जाए। इस निम्न दाब क्षेत्र के प्रभाव में पूर्वी एवं पश्चिम मप्र में आज और कल भारी वर्षा कहीं-कहीं पर बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। राजधानी समेत ज्यादातर शहरों में 15 अगस्त से तेज बारिश की संभावना है।

इन जिलों में बौछारें पडऩे के आसार
मौसम विभाग के अनुसार भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, उज्जैन, नीमच, रतलाम, शाजापुर, देवास, मंदसौर, आगर, इंदौर, धार, खंडवा, खरगौन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, जबलपुर, मंडला, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, कटनी में बौछार पडऩे की संभावना है।

इन जिलों में भारी बारिश की संभावना
पूर्वी मध्यप्रदेश के सतना, रीवा ,सीधी, सिंगरौली, शहडोल, उमरिया, सागर, दमोह, पन्ना, छतरपुर, सिंगरौली, दतिया, गुना, अशोकनगर, श्योपुर, मुरैना, कटनी, अनूपपूर, जबलपुर, डिंडौरी, खंडवा, मंडला, बालाघाट.हरदा, होशंगाबाद, सीहोर, विदिशा, रायसेन, टीकमगढ़ ।