रायपुर। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एंव उपभोक्ता संरक्षण मंत्री अमरजीत भगत नई दिल्ली में कल केन्द्रीय खाद्य मंत्री से मिलकर राज्य के खाद्यान्न संबंधित मुद्दे पर चर्चा कर निराकरण करने का आग्रह करेंगे। बैठक में खाद्य मंत्री राज्य के लिए केन्द्र सरकार द्वारा केरोसिन और कल्याणकारी संस्थाओं के खाद्यान्न आबंटन में वृद्धि की मांग करेंगे। श्री भगत ने इस तारतम्य में आज खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की समीक्षा बैठक ली।
श्री भगत ने विभागीय अधिकारियों से विस्तार से जानकारी लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में अधिकारियों ने मंत्री श्री भगत को धान उपार्जन एवं मीलिंग से संबंधित जानकारी देते हुए बताया कि खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में भारतीय खाद्य निगम द्वारा उसना चांवल के साथ-साथ अरवा चांवल लेने, उपार्जित चांवल के मूवमेंट हेतु पर्याप्त संख्या में रेक प्रदाय, लंबित परिवहन व्यय का भुगतान, बस्तर एवं सरगुजा क्षेत्र के मीलरों से उसना चांवल के संबंध में भारतीय खाद्य निगम द्वारा नये बेस डिपो की स्थापना, पुरानें बारदानें की व्यवस्था, एक भर्ती बारदानें के उपयोग की निति पुनः प्रारंभ करने, सार्वजनिक वितरण प्रणाली से संबंधित केरोसिन आबंटन में कटौती कल्याणकारी संस्थाओं हेतु खाद्यान्न में आबंटन, भवनविहीन राशन दुकानों के लिए सर्व सुविधायुक्त भवन निर्माण, राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत खाद्यान्न आबंटन में वृद्धि, खाद्य विभाग भारत सरकार के लंबित दावों की जानकारी और राज्य के शक्कर कारखानों के लिए अतिरिक्त कोटा जारी करने आदि महत्वपूर्ण विषयों के संबंध में चर्चा की गई।
राजधानी के राज्य अतिथि गृह पहुंना के बैठक कक्ष में रखी गई थी। इस अवसर पर विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह, विशेष सचिव एलेक्स पॉल मेनन, विशेष सचिव मनोज सोनी, नागरिक आपूर्ति के प्रबंध संचालक निरंजन दास, प्रबंध निदेशक मार्कफेड अब्दुल केसर हक सहित वरिष्ठ विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।