कटक: भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने 21वीं कॉमनवेल्थ टेबल टेनिस चैंपियनशिप के सिंगल्स इवेंट के गोल्ड मेडल भी जीत लिए. सोमवार को खेले गए फाइनल मुकाबलों में पुरुष सिंगल्स में हरमीत देसाई और महिला सिंगल्स में अहिका मुखर्जी ने बाजी मारी. इसके साथ ही भारत ने कॉमनवेल्थ टेटे चैंपियनशिप के सभी सात गोल्ड मेडल जीत लिए. यह उसका अबतक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है. इसके अलावा भारत ने पांच रजत और तीन कांस्य पदक अपने नाम किए. वह टूर्नामेंट की प्वाइंट टेबल में शीर्ष पर रहा. 

कॉमनवेल्थ टेटे चैंपियनशिप यहां के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेली गई. सोमवार को इसके सिंगल्स और डबल्स वर्ग के फाइनल हुए. पुरुष सिंगल्स में हरमीत देसाई ने हमवतन जी साथियान को मात दी. महिला सिंगल्स में अहिका मुखर्जी ने हमवतन मधुरिका पाटकर को 4-0 से हराकर स्वर्ण अपने नाम किया. 

पुरुष डबल्स में एंथनी अमलराज और मानव थक्कर की जोड़ी ने हमवतन साथियान और अचंता शरत कमल की जोड़ी को 3-1 से हराकर स्वर्ण पदक जीता. महिला डबल्स में पूजा सहस्त्रबुद्धे और कृत्विका सिंघा राय ने श्रीजा अकुला और मौसमी पॉल को 3-1 से हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. 


साथियान-अर्चना ने मिक्स्ड डबल्स का गोल्ड जीता
इससे पहले जी साथियान और अर्चना कामथ की जोड़ी ने चैंपियनशिप का मिक्स्ड डबल्स का गोल्ड अपने नाम किया. भारतीय जोड़ी ने रविवार को खेले गए फाइनल में सिंगापुर के पेंग यु इन कोइन और गोइ रूई झुआन को 3-0 से हराया. भारत ने टीम इवेंट के दोनों गोल्ड भी जीते हैं.