महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी श्योपुर जिले के विजयपुर विकासखण्ड के ग्राम खुर्रका, बड़ौदाकलां, शिवलालपुरा, अगरा और गोलीपुरा में सहरिया परिवारों के बीच पहुँचीं। उन्होंने कहा कि आदिवासियों के हक को पहुँचाने का प्रयास हर स्तर पर किया जाना चाहिए। उन्होंने पिछले दिनों इन ग्रामों में हुई बच्चों की मृत्यु पर परिजनों से चर्चा की। आँगनवाड़ी केन्द्रों में पोषण-आहार वितरण व्यवस्था संतोषजनक नहीं होने पर सुपरवाइजर श्रीमती रेखा अग्रवाल को निलंबित करने के निर्देश दिये।

मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने ग्रामीणों से कहा कि कमजोर और कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कर उपचार और पोषण-आहार दिलवायें। उन्होंने कहा कि सहरिया परिवारों के लिये एनआरसी के साथ-साथ स्वास्थ्य केन्द्रों में भी चिकित्सा और पोषण-आहार की व्यवस्था की गयी है। मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने सहरिया परिवार की महिलाओं से चर्चा करते हुए कहा कि बच्चों को पोषण-आहार के लिये एक हजार की राशि दी जा रही है। उन्होंने भ्रमण के दौरान ग्रामों के आँगनवाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान आँगनवाड़ी केन्द्रों पर दी जा रही सुविधाओं और पोषण आहार का जायजा लिया।

मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने ग्रामीणों से चर्चा के दौरान कहा कि वे एनआरसी और स्वास्थ्य केन्द्र में कमजोर और कुपोषित बच्चों को अवश्य ले जायें। राज्य शासन ने उपचार और पोषण की पर्याप्त व्यवस्था की है। मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने जिला मुख्यालय पर अधिकारियों के साथ विजयपुर क्षेत्र के सहरिया बहुल ग्रामों में संचालित विभिन्न विभागों की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की।

इस अवसर पर चम्बल संभाग कमिश्नर श्रीमती रेनू तिवारी, एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।