मैनचेस्टर । मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफोर्ड में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 50 ओवर्स में टीम इंडिया  ने सात विकेट खोकर 268 रन बनाये।
टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। ओपनर रोहित शर्मा छठवें ओवर की अंतिम गेंद पर कैमार रोच द्वारा थाई होप को कैच करा दिए गए। रोहित 23 गेंदों में एक चौके, एक छक्के की सहायता से 18 रन ही बना सके। इसके बाद केएल राहुल और कप्तान विराट कोहली ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए 67 रन की साझेदारी की। जिस वक्त भारत का स्कोर 98 रन था जेसन होल्डर की एक भीतर घुसी गेंद से केएल राहुल बोल्ड हो गए। उन्होंने 64 गेंदों में छह चौके की सहायता से 48 रन बनाए। 
इस बीच कप्तान विराट कोहली ने अपना शानदार खेल जारी रखा और विजय शंकर के साथ मिलकर पारी संभालने की कोशिश की लेकिन केमार रोच ने एक बार फिर शाई होप के हाथों विजय शंकर को कैच करा दिया। शंकर ने 19 गेंदों में 14 रन की पारी में तीन चौके लगाए। केदार जाधव भी कुछ खास नहीं कर सके और 7 रन बनाकर केमार रोच द्वारा आउट करा दिए गए, उनका कैच भी शाई होप ने पकड़ा।
इसके बाद कप्तान विराट कोहली और विकेटकीपर धोनी ने संभलकर खेलना शुरू किया। दोनों ने मिलकर 38 ओवर तक स्कोर 180 रन पहुंचाया। 39 वें ओवर की दूसरी गेंद पर कप्तान विराट कोहली जेसन होल्डर के शिकार बने। उनका विकेट सब्सीट्यूट ने पकड़ा। कोहली ने 82 गेंदों में 72 रन बनाए और 8 चौके मारे। वे सबसे कम पारियों में 20 हजार अंतरराष्ट्रीय रन पूरे करने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज भी बने। इसके बाद एमएस धोनी और हार्दिक पंड्या ने पारी संभालने की कोशिश की। दोनों ने अंतिम ओवर्स में अच्छे हाथ दिखाए। पंड्या को शेल्डन कॉटरेल ने फैबियन एलन के हाथों कैच करा दिया। पंड्या ने 38 गेंदों में पांच चौके की सहायता से 46 रन बनाए। मोहम्मद शमी बिना खाता खोले शेल्डन कॉटरेल की गेंद पर शाई होप को कैच दे बैठे। विकेटकीपर एमएस धोनी नाबाद रहे उन्होंने 61 गेंदों में तीन चौके और दो छक्के की सहायता से 56 रन का योगदान दिया। कुलदीप यादव 1 गेंद में बिना कोई रन बनाए नाबाद लौटे।
वेस्टइंडीज के लिए केमार रोच ने 10 गेंदों में 36 रन देकर तीन विकेट लिए। जेसन होल्डर और शेल्डन कॉटरेल को दो- दो विकेट मिले।