बर्मिंघम: पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने कहा कि उनकी तुलना ‘सुअर’ से करने जैसी घटनाओं से पीड़ा पहुंचती है लेकिन वह इनसे बचने के लिए कुछ नहीं कर सकते और सिर्फ आलोचना करते हुए दुर्व्यवहार नहीं करने की अपील कर सकते हैं. वर्ल्‍ड कप (ICC cricket world cup 2019) के दौरान मैनचेस्टर में चिर प्रतिद्वंद्वी भारत के खिलाफ 89 रन की हार के बाद पाकिस्तानी प्रशंसकों ने राष्ट्रीय टीम की काफी आलोचना की थी.
सरफराज को इंग्लैंड के एक माल में अपने बेटे को गोद में उठाकर चलते हुए दिखाया गया है और इस दौरान एक प्रशंसक उन्हें रोककर पूछता है कि वह मोटे सुअर की तरह क्यों दिख रहे हैं. इस प्रशंसक ने हालांकि खिलाड़ी को निशाना बनाने के लिए चौतरफा आलोचना के बाद अपने आचरण के लिए माफी मांग ली थी.
लंदन में दक्षिण अफ्रीका को हराकर पाकिस्तान के सेमीफाइनल में जगह बनाने की उम्मीदें जीवंत रखने के बाद सरफराज ने कहा, ‘‘मैं इस पर कुछ नहीं कह सकता. लोग हमारे बारे में क्या कहते हैं इसे नियंत्रित करना हमारे हाथों में नहीं है. हारना और जीतना खेल का हिस्सा है और ऐसा नहीं है कि हमारी टीम पहली है जो मैच हारी है. पिछली टीमों को भी हार का सामना करना पड़ा है. ’’
उन्होंने कहा, ‘‘हमें जिस तरह की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है उसी तरह की आलोचना पूर्व की टीमों की होती तो उन्हें महसूस होता कि इन चीजों से हमें कितनी पीड़ा पहुंचती है. अब सोशल मीडिया है, लोग जो चाहे वह लिखते, बोलते हैं और टिप्पणी करते हैं. इससे खिलाड़ी की मानसिकता पर असर पड़ता है.’’
सरफराज से पहले शोएब मलिक और मोहम्मद आमिर भी प्रशंसकों से निजी हमले नहीं करने की अपील कर चुके हैं. सरफराज ने कहा, ‘‘आलोचना करते हुए दुर्व्यवहार नहीं करना चाहिए. हमारे क्रिकेट के लिए हमारी आलोचना करो लेकिन हमारे साथ दुर्व्यवहार मत करो.’’